योजना : रेल की पटरी पर दौड़ेंगे मेट्रो के डिब्बे तो सुरक्षा, आराम, एसी और रफ्तार

आम ट्रेन की तुलना में यह तुरंत स्पीड पकड़ लेती है और जल्दी मंजिल पर पहुंचा देती है. जल्द ही यह संभव हो सकता है. 

योजना : रेल की पटरी पर दौड़ेंगे मेट्रो के डिब्बे तो सुरक्षा, आराम, एसी और रफ्तार

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

सोचिए, अगर आप को आम रेल की जगह मेट्रो के डिब्बों में सफर करने को मिल जाए तो यात्रा मंगलमय होना तय है. इन डिब्बों में  सुरक्षा की ठीक व्यवस्था है, आराम भी है और एसी के साथ साथ रफ्तार का मजा भी है. आम ट्रेन की तुलना में यह तुरंत स्पीड पकड़ लेती है और जल्दी मंजिल पर पहुंचा देती है. जल्द ही यह संभव हो सकता है. आम रेल की पटरी पर यदि मेट्रो की ट्रेन के डिब्बों को दौड़ाया तो केंद्रीय राजमार्ग एवं सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि ‘ब्राडगेज’ रेल लाइन पर मेट्रो दौड़ाने की योजना है. मंत्री ने यहां संवाददाताओं से कहा कि इसके लिए नागपुर मेट्रो एवं भारतीय रेल के बीच करार होने की उम्मीद है. 

उन्होंने कहा कि यह उनका विचार था जिसे रेलवे ने स्वीकृति दी है. गडकरी ने कोयला एवं रेल मंत्री पीयूष गोयल का आभार जताते हुए कहा, ‘‘इसका पहला प्रयोग नागपुर में होने जा रहा है.’’  उन्होंने कहा कि ब्राडगेज रेलवे लाइन पर यह मेट्रो नागपुर को कोटल, भंडारा, रामटेक और वर्धा जैसे उपनगरीय शहरों (सेटेलाइट टाउन) से जोड़ा जाएगा. 

पढ़ें - दिल्ली में आग लगने से 250 झुग्गियां जलकर खाक

गडकरी ने कहा, ‘‘इसके बारे में कर्नाटक चुनाव के बाद नागपुर मेट्रो और भारतीय रेल सहमति पत्र पर हस्ताक्षर करेंगे.’’ इस वातानुकूलित मेट्रो में चार डिब्बे होंगे और ये 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ेंगे. 

VIDEO: मेट्रो पार्किंर पर रिपोर्ट

गडकरी ने कहा, ‘‘यात्री रेल की गति 60 किलोमीटर प्रति घंटे होती है जो स्टेशन पर रुकने से पहले 30 किलोमीटर प्रतिघंटे पर आ जाती है. इसे बढ़ाने में समय लगता है. इसीलिए मैंने उन्हें यात्री रेल बंद करने को कहा है.’’ (भाषा)

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com