NDTV Khabar

नोटबंदी का असर: जनवरी-मार्च तिमाही में 12.54 लाख नए पीओएस टर्मिनल जुड़े

मंत्रालय ने कहा कि ग्रामीण इलाकों में ऐसी सुविधाएं बेहतर करने के लिए नाबार्ड ने वित्तीय समावेशन कोष से 2.04 लाख टर्मिनलों को आवंटित किया है.

8 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
नोटबंदी का असर:  जनवरी-मार्च तिमाही में 12.54 लाख नए पीओएस टर्मिनल जुड़े

खास बातें

  1. जनवरी-मार्च तिमाही में 12.54 लाख पीओएस
  2. पीओएस की संख्या बढ़कर 27.73 लाख
  3. जमा रकम में बढ़ोतरी भी दर्ज की गई
नई दिल्ली: वित्त मंत्रालय के अनुसार इस साल जनवरी-मार्च तिमाही में 12.54 लाख पॉइंट ऑफ सेल (पीओएस) टर्मिनल जुड़े हैं. यह नोटबंदी के बाद सरकार के डिजिटल लेनदेन बढ़ाने के प्रयासों को गति प्रदान करने वाला है. इन नयी मशीनों के साथ ही मार्च 2017 के अंत तक देश में कुल पीओएस की संख्या बढ़कर 27.73 लाख हो गई है. 

टिप्पणियां
मंत्रालय ने कहा कि ग्रामीण इलाकों में ऐसी सुविधाएं बेहतर करने के लिए नाबार्ड ने वित्तीय समावेशन कोष से 2.04 लाख टर्मिनलों को आवंटित किया है. यह जानकारी आज वित्तीय सेवा विभाग द्वारा मोदी सरकार के तीन साल का कार्यकाल पूरा होने की उपलब्धियों की जानकारी देने के दौरान दी गई.

वित्त मंत्रालय ने जानकारी देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री जन धन योजना (पीएसजेडीवाई) के अंतर्गत खोले गए खातों में भी जमा रकम में बढ़ोतरी दर्ज की गई है.  मंत्रालय ने कहा, "5 अप्रैल को, 28.23 करोड़ पीएमजेडीवाई खातों में जमा राशि 63,971 करोड़ रुपये थी. 2015 के मार्च में प्रति खाते औसत जमा 1,064 रुपये से बढ़कर 2017 के मार्च महीने तक 2,235 रुपये हो गया है."
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement