Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

ब्याज दरों में और कटौती की गुंजाइश कम : गोकर्ण

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. भारतीय रिजर्व बैंक ने कहा है कि आने वाले समय में मुद्रास्फीतिक दबाव को देखते हुए ब्याज दरों में और कटौती की गुंजाइश कम है।
हैदराबाद:

भारतीय रिजर्व बैंक ने कहा है कि आने वाले समय में मुद्रास्फीतिक दबाव को देखते हुए ब्याज दरों में और कटौती की गुंजाइश कम है।

केंद्रीय बैंक के डिप्टी गवर्नर सुबीर गोकर्ण ने फिक्की की एक बैठक के मौके पर संवाददाताओं से कहा, ‘हमने अप्रैल में ब्याज दरों में कटौती का सिलसिला शुरू किया। लेकिन यदि आप हमारे मुद्रास्फीति के अनुमान को देखें तो मध्यम से दीर्घावधि में मुद्रास्फीतिक दबाव बरकरार है। इस तरह ब्याज दरों में और कटौती की गुंजाइश नहीं दिखती।’ उन्होंने कहा कि हालांकि वृद्धि और महंगाई का संतुलन सकारात्मक तरीके से बदल रहा है, मध्यम से दीर्घावधि में मुद्रास्फीतिक दबाव कायम है।

टिप्पणियां

करीब तीन साल बाद रिजर्व बैंक के गवर्नर डी सुब्बाराव ने पिछले महीने लघु अवधि की ऋण दरों को आधा फीसद घटाकर 8 प्रतिशत किया था। इससे पहले मार्च में केंद्रीय बैंक ने नकद आरक्षित अनुपात (सीआरआर) में 0.75 फीसद की कटौती की थी। इससे बैंकिंग तंत्र को 48,000 करोड़ रुपये की अतिरिक्त नकदी उपलब्ध हुई थी।


रुपये में आ रहे उतार-चढ़ाव के बारे में गोकर्ण ने कहा कि रिजर्व बैंक इसके लिए आवश्यक कदम उठा रहा है। उन्होंने कहा, ‘मैं इस पर कोई अनुमान नहीं लगाउंगा कि कब क्या होगा। हम बाजार स्थिति के अनुसार कदम उठाएंगे।’



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... Delhi Violence: दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर रजनीकांत ने केंद्र सरकार की आलोचना की, कहा- निश्चित तौर पर यह...'

Advertisement