Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

सस्‍ता नहीं होगा पेट्रोल-डीजल, ये है वजह

पेट्रोलियम कंपनियों ने कहा कि सरकार ने अगले महीने कर्नाटक में होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर उनसे पेट्रोल, डीजल की मूल्यवृद्धि टालने का कोई निर्देश नहीं दिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सस्‍ता नहीं होगा पेट्रोल-डीजल, ये है वजह

फाइल फोटो

खास बातें

  1. चुनाव के मद्देनजर पेट्रोल, डीजल की मूल्यवृद्धि टालने का कोई निर्देश नहीं
  2. तेल उत्पादक देशों से कीमतें तय करने में समझदारी दिखाएं: PM मोदी
  3. गुजरात चुनावों के मद्देनजर पेट्रोल और डीजल के दाम नहीं बढ़ाने को कहा था
नई दिल्ली :

पेट्रोलियम कंपनियों ने कहा कि सरकार ने अगले महीने कर्नाटक में होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर उनसे पेट्रोल, डीजल की मूल्यवृद्धि टालने का कोई निर्देश नहीं दिया है. वहीं अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में तेजी के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तेल उत्पादक देशों से कीमतें तय करने में समझदारी दिखाने का आग्रह किया था.

इंडियन आयल कारपोरेशन और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशन के शीर्ष अधिकारियों ने यह जानकारी दी. सरकार ने अनौपचारिक तौर पर सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियों से गुजरात में दिसंबर, 2017 में हुए चुनावों के मद्देनजर पेट्रोल और डीजल के दाम नहीं बढ़ाने को कहा था. कुछ लोगों का कहना है कि उस समय पेट्रोल और डीजल कीमतों में 45 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी होनी थी, जो नहीं की गई.

क्या कॉमर्शियल और निजी वाहनों के लिए डीजल की कीमतों में अंतर हो सकता है : सुप्रीम कोर्ट


इस बार इंडियन आयल कारपोरेशन (आईओसी), हिंदुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशन लि. (एचपीसीएल) तथा भारत पेट्रोलियम कारपोरेशन लि. (एचपीसीएल) को एक रुपये प्रति लीटर की वृद्धि का बोझ खुद वहन करने को कहा गया है. आईओसी के चेयरमैन संजीव सिंह ने यहां आईईएफ मंत्री स्तरीय बैठक के मौके पर संवाददाताओं से अलग से बातचीत में कहा, ‘हमें सरकार से मूल्यवृद्धि टालने के लिए कुछ नहीं कहा गया है.’ 

टिप्पणियां

एचपीसीएल के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक एम के सुराना ने भी कहा कि कंपनी को इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि पेट्रोलियम कंपनियों से कीमतें नहीं बढ़ाने को कहा गया है. पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सरकार के इस निर्देश के बारे में कुछ नहीं कहा.

VIDEO: पेट्रोल की पोल खोल

यह खबर आने के बाद कि सरकार ने पेट्रोलियम कंपनियों से दाम नहीं बढ़ाने को कहा है, आईओसी का शेयर 7.6 प्रतिशत टूटा. एचपीसीएल का शेयर 8.3 प्रतिशत नीचे आया. सरकार ने जून , 2010 में पेट्रोल कीमतों को नियंत्रणमुक्त किया था. अक्तूबर , 2014 में डीजल कीमतों को भी नियंत्रणमुक्त कर दिया गया.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... डीसीपी सर बेहोश पड़े थे...कांस्टेबल रतनलाल भी साथ में थे, सामने हथियारों के साथ भीड़,सोचा फायरिंग कर दूं : IPS अनुज कुमार

Advertisement