देश में ‘बुलेट ट्रेन’ का सपना साकार करने की दिशा में बढ़े कदम, टैल्गो रेल कोच का सेंसर ट्रायल सफल

देश में ‘बुलेट ट्रेन’ का सपना साकार करने की दिशा में बढ़े कदम, टैल्गो रेल कोच का सेंसर ट्रायल सफल

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

बरेली:

भारत ने ‘बुलेट ट्रेन’ का सपना साकार करने की दिशा में एक कदम और आगे बढ़ाते हुए स्पेन की टैल्गो कंपनी के रेल कोच का इज्जतनगर-भोजीपुरा स्टेशन के बीच सफल सेंसर ट्रायल पूरा कर लिया।

रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि स्पेन के कोच भारतीय इंजन ने खींचे। अधिकारियों ने बताया कि टैल्गो कंपनी की सुपर लग्जरी ट्रेन के कोच का ट्रायल भारतीय पटरी पर हुआ। टैल्गो कोच में कई सेंसर लगे हैं। इन सेंसर में कोई कमी तो नहीं, यह देखने के लिए ही रेलवे बोर्ड के मैकेनिकल इंजीनियर हेमंत कुमार ने सेंसर ट्रायल के लिए निर्देश दिए थे।

इस कड़ी में गुरुवार को टैल्गो कोच की बर्थ पर रेत से भरे बोरों को रखा गया। उन्होंने बताया कि इसके बाद कल सुपर लग्जरी कोच का सेमी हाई स्पीड ट्रायल किया जाएगा। यह सेमी हाई स्पीड ट्रायल बरेली-मुरादाबाद के बीच 12 जून तक चलेगा। बरेली-मुरादाबाद के बीच ट्रायल में टैल्गो कोच की रफ्तार 115 किमी प्रति घंटा होगी। इसके बाद मथुरा-पलवल ट्रैक पर 180 किमी और दिल्ली मुंबई के बीच 200 से 220 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से सेमी हाई स्पीड ट्रायल किया जाएगा।

पूर्वोत्‍तर रेलवे के इज्जतनगर मंडल के जन संपर्क अधिकारी राजेन्द्र सिंह ने बताया कि स्पेन की टैल्गो कंपनी के कोच का सेंसर ट्रायल सफल हुआ। बुधवार को रेलवे बोर्ड की तीन सदस्यीय टीम सुबह ही वर्कशॉप आ गई थी।

उन्होंने बताया कि टीम को प्रोजेक्टर पर टैल्गो कंपनी की सुपर लग्जरी ट्रेन की जानकारी दी गयी। लगभग 40 मिनट स्पेन की टीम ने सुपर लग्जरी कोच के एक-एक उपकरण के बारे में विस्तार से बताया। इसके बाद रेलवे वर्कशॉप की पिट लाइन पर खड़ी सुपर लग्जरी ट्रेन का निरीक्षण किया गया।

सिंह ने बताया कि सेंसर काम कर रहे हैं या नहीं, इसके लिए स्पेन की टीम ने स्पीड ट्रायल में सेंसर देखने की बात कही। मगर मैकेनिकल मेंबर ने स्पीड ट्रायल से पहले सेंसर का ट्रायल करने के निर्देश दिए थे। इसलिए इज्जतनगर-भोजीपुरा स्टेशन के बीच यह सेंसर ट्रायल किया गया।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है)