रियायती दर पर एक दिन में केवल 100 एसएमएस होंगे

रियायती दर पर एक दिन में केवल 100 एसएमएस होंगे

खास बातें

  • किसी मोबाइल नंबर या सिम से रियायती दर पर अब एक दिन में केवल 100 एसएमएस ही किए जा सकेंगे। दूरसंचार नियामक ट्राई ने अवांछित एसएमएस पर काबू पाने के प्रयासों के तहत यह पहल की है।
नई दिल्ली:

किसी मोबाइल नंबर या सिम से रियायती दर पर अब एक दिन में केवल 100 एसएमएस ही किए जा सकेंगे। दूरसंचार नियामक ट्राई ने अवांछित एसएमएस पर काबू पाने के प्रयासों के तहत यह पहल की है।

नियामक ने कहा है कि 100 एसएमएस की सीमा के बाद अगर कोई एसएमएस भेजा जाता है तो उस पर कम से कम 50 पैसे प्रति एसएमएस शुल्क होगा।

उल्लेखनीय है कि नियामक के तमाम प्रयासों के बावजूद ग्राहकों को गैर पंजीकृत टेली मार्केटिंग कंपनियों से एसएमएस आने का सिलसिला जारी है। इस तरह की फर्में दूरसंचार कंपनियों की रियायती एसएमएस पेशकशों का फायदा उठाती हैं।

दूरसंचार मंत्री कपिल सिब्बल ने पिछले सप्ताह कहा था कि उन्हें भी इस तरह के अवांछित एसएमएस मिलते रहते हैं। उन्होंने कहा, मुझे हर दो मिनट में इस तरह का एसएमएस मिलता है। ट्राई के प्रधान सलाहकार एन परमेश्वरन ने संवाददाताओं को बताया कि गैर पंजीकृत टेलीमार्केटिंग कंपनियों द्वारा रियायती एसएमएस योजनाओं के दुरुपयोग को रोकने के लिए यह कदम उठाया गया है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उन्होंने कहा, इन बदलावों व आदेश का कार्यान्वन 15 दिन में किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस दिशा में यह पहल है जबकि और कदम उठाए जाएंगे।

दूरसंचार ऑपरेटरों से यह भी कहा गया है कि वह तीन महीने के भीतर इसका समाधान करें और प्रणाली बनाएं जिसमें, यह सुनिश्चित किया जाए कि एक घंटे में एक ही हस्ताक्षर से 200 से अधिक एसएमएस नहीं भेजे जा सकें। ग्राहक भी एमएसएम के जरिये ही अवांछित व्यावसायिक संदेशों के खिलाफ शिकायत कर सकते हैं। परमेश्वरन ने बताया कि यह शिकायत 1909 नंबर पर एसएमएस करके की जा सकती है। इसमें एसएमएस मिलने की तिथि और उसका नंबर भी साथ होना चाहिए।