NDTV Khabar

'तेल में आग' : आज फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम 

पेट्रोल और डीज़ल की कीमतें आज फिर बढ़ गई हैं. आज पेट्रोल 15 पैसे और डीज़ल 11 पैसे महंगा हो गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'तेल में आग' : आज फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम 

प्रतीकात्मक चित्र

खास बातें

  1. पेट्रोल-डीजल की कीमतों में आज फिर बढ़ोतरी
  2. पेट्रोल 15 पैसे और डीजल 11 पैसे हुए महंगा
  3. चौतरफा विरोध के बावजूद बढ़ रही हैं कीमतें
नई दिल्ली: पेट्रोल और डीज़ल की कीमतें आज फिर बढ़ गई हैं.आज पेट्रोल 15 पैसे और डीज़ल 11 पैसे महंगा हो गया है.दिल्ली में पेट्रोल की कीमतें 78.27 औऱ डीजल की कीमतें 69.17 रुपये प्रति लीटर हो गई हैं.वहीं मुंबई में पेट्रोल का दाम 86.08 रुपये और डीज़ल 73.64 रुपये प्रति लीटर हो गया है.अन्य महानगरों की बात करें तो कोलकाता में पेट्रोल का दाम 80.91 रुपये और डीज़ल 71.72 रुपये प्रति लीटर है.जबकि चेन्नई में पेट्रोल का दाम 81.26 रुपये और डीज़ल 73.03 रुपये प्रति लीटर तक पहुंच गया है.आपको बता दें कि देश में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर पिछले कुछ दिनों से घमासान मचा हुआ है.कर्नाटक में चुनाव संपन्न होने के बाद तेल की कीमतें फिर बढ़नी शुरू हुई और लगातार बढ़ रही हैं.

इस मामले पर पिछले दिनों कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक ट्वीट कर पीएम को तेल की क़ीमतें कम करने की चुनौती दी थी. राहुल ने लिखा था कि पेट्रोल डीज़ल के दाम कम कीजिए या कांग्रेस राष्ट्रव्यापी आंदोलन कर आपको ऐसा करने के लिए मजबूर कर देगी. वहीं पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा था कि वो पेट्रोल-डीज़ल की बढ़ती क़ीमतों के मामले में जल्द समाधान पर काम कर रहे हैं और जल्द ही हालात से निकलने का रास्ता निकाल लेंगे. उन्होंने ये भी कहा कि पेट्रोलियम मंत्रालय पेट्रोलियम उत्पादों को GST के दायरे में लाने का पक्षधर है.

यह भी पढ़ें : ईंधन की बढ़ती कीमतों के ‘तत्काल समाधान’ पर विचार कर रही केंद्र सरकार : धर्मेंद्र प्रधान

टिप्पणियां
दूसरी तरफ, तेल के बढ़ते दामों पर अब आम लोगों के साथ-साथ उद्योग जगत भी खुलकर सामने आ गया है. फिक्की ने इस पर अपनी चिंता जताई. फिक्की के महासचिव दिलीप चेनाय ने एनडीटीवी से कहा, "आने वाले दिनों में अगर तेल और महंगा होता है तो उसका असर चालू बजट घाटा, महंगाई दर और अहम चीज़ों की कीमतों पर पड़ेगा.सरकार का रुख़ बता रहा है कि वह टैक्स कम करने से हिचक रही है. हालांकि पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कटक में कहा था, "हम एक मजबूत फॉर्मूला बनाने की कोशिश में हैं और समस्या के हल पर काम कर रहे हैं." प्रधान ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोत्तरी तेल संकट की बड़ी वजह है.

यह भी पढ़ें : जर्मनी में भी बढ़े थे पेट्रोल-डीजल के दाम, जनता ने ये काम कर रातोंरात कराए थे कम
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement