NDTV Khabar

नववर्ष 2017 पर पीएम मोदी ने गरीबों के लिए आवासीय योजनाओं की घोषणा की, जानें इनके बारे में...

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नववर्ष 2017 पर पीएम मोदी ने गरीबों के लिए आवासीय योजनाओं की घोषणा की, जानें इनके बारे में...

पीएम ने गरीबों के लिए हाउसिंग योजनाओं की घोषणा की

नई दिल्ली:

पीएम नरेंद्र मोदी ने नव वर्ष की पूर्व संध्या पर यानी 31 दिसंबर 2016 को राष्ट्र के नाम संबोधन के दौरान शहरी गरीब लोगों के लिए हाउसिंग योजनाओं की घोषणा की. उन्होंने कहा कि सबका साथ-सबका विकास को चरितार्थ करने के लिए देश के सवा सौ करोड़ लोगों के लिए सरकार कुछ नई योजनाएं ला रही हैं. इसके अलावा उन्होंने ग्रामीण लोगों के लिए भी महत्वपूर्ण ऐलान किए. प्रधानमंत्री ने कहा- स्वतंत्रता के इतने वर्षो के बाद भी देश के लाखों गरीबों के पास अपना घर नहीं है. काला धन बढ़ा तो मध्यम वर्ग की पहुंच से अपना घर खरीदना दूभर हो गया. गरीब, निम्न मध्यम वर्ग और मध्यम वर्ग घर खरीद सके इसके लिए सरकार ने कुछ बड़े फैसले लिए हैं.

पीएम ने अपने भाषण में शहरी गरीब लोगों के लिए दो नई हाउसिंग योजनाओं की घोषणा की. पीएम आवास योजना के तहत शहरों में बनने वाले घरों पर नौ लाख के कर्ज पर ब्याज में 4% और 12 लाख पर 3% की छूट दी गई है. पीएम ने ग्रामीण इलाकों में पहले से 33 फीसदी अधिक घर बनवाए जाने की घोषणा की. उन्होंने गृह ऋण पर ब्याज में कटौती की भी घोषणा की है.


-- -- -- -- --
यह भी पढ़ें- पीएम मोदी के भाषण से जुड़ी खास बातें
जो कुछ पीएम मोदी ने भाषण में कहा, वह पूरा यहां पढ़ें
-- -- -- -- --

टिप्पणियां

उन्होंने कहा कि गांव में रहने वाले लोग जो अपना घर बनाना चाहते हैं, उसका विस्‍तार करना चाहते हैं, या फिर मरम्मत करना चाहते हैं, उन्‍हें दो लाख रुपये तक के कर्ज में तीन प्रतिशत तक के ब्‍याज की छूट दी जाएगी. इस प्रकार पीएम ने अपनी स्पीच में शहरी और ग्रामीण, दोनों, के लिए रहने के लिए  घर को लेकर महत्वपूर्ण ऐलान किए. उन्होंने कहा, सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गांवों में बनने वाले घरों की संख्या को बढ़ा दिया है, यानी जितने घर पहले बनने वाले थे, उससे 33 प्रतिशत ज्यादा घर बनवाए जाएंगे.
 


पीएम मोदी के इस भाषण के बाद मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ब्याज दरें बहुत कम होने से हर गरीब न केवल अपना आशियाना बनाने का सपना देख सकेगा, बल्कि उसे साकार भी कर सकेगा.

(न्यूज एजेंसी IANS से भी इनपुट)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement