यह ख़बर 29 जनवरी, 2012 को प्रकाशित हुई थी

प्रणब ने अमेरिकी निवेशकों को दिया न्योता

प्रणब ने अमेरिकी निवेशकों को दिया न्योता

खास बातें

  • वित्तमंत्री प्रणव मुखर्जी ने भारत में बुनियादी ढांचा क्षेत्र में निवेश की संभावनाओं का उल्लेख करते हुए अमेरिकी निवेशकों को इस क्षेत्र में आने का न्योता दिया है।
शिकागो:

वित्तमंत्री प्रणव मुखर्जी ने भारत में बुनियादी ढांचा क्षेत्र में निवेश की संभावनाओं का उल्लेख करते हुए अमेरिकी निवेशकों को इस क्षेत्र में आने का न्योता दिया है। मुखर्जी ने कहा है कि अमेरिकी निवेशकों के लिए भारत की ढांचागत क्षेत्र की कंपनियों के दीर्घकालिक बांड में निवेश के आकर्षक अवसर है। वे इन्फ्रास्ट्रक्चर डेट फंड के माध्यम से इन बांडों में निवेश कर सकते हैं।

इन्फ्रा डेट फंड की यूनिटों के माध्यम से निवेशित धन ढांचागत क्षेत्र की कंपनियों के रिण पत्रों में लगाया जाता है। उन्होंने निवेशकों को इस बात का आकर्षण दिखाया कि देश में दीर्घकालिक ब्याज की दरों पर भरोसा किया जा सकता है। उल्लेखनीय है कि भारत के बुनियादी ढांचा क्षेत्र में 12वीं योजना (2012-17) में 1,000 अरब डॉलर के निवेश की जरूरत का अनुमान लगाया गया है।

Newsbeep

मुखर्जी ने 'फार्च्यून' पत्रिका की 500 शीर्ष कंपनियों की सूची में शामिल चुनिंदा कंपनियों के अधिकारियों के साथ बैठक में कहा कि भारत ने बिजली, दूरसंचार, बंदरगाह, हवाई अड्डा, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस जैसे क्षेत्रों में एक पारदर्शी और स्थिर नियामक व्यवस्था स्थापित की है। साथ ही कोयला क्षेत्र के लिए भी नियामक बनाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि भारत ने हाल में ऋण और शेयर बाजार में विदेशी निवेशकों की भागीदारी को उदार बनाया है। विदेशी निवेशकों को अब भारतीय शेयर बाजार में सीधे निवेश की अनुमति है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


विदेशी निवेशकों की अधिक भागीदारी पर जोर देते हुए वित्तमंत्री ने कहा कि बुनियादी ढांचा क्षेत्र की परियोजनाओं के लिए ऋण की बहुत बड़ी राशि की जरूरत है। उन्होंने बताया कि भारत ने हाल में एक ऐसा तंत्र विकसित किया है, जिससे विदेशी निवेशक बुनियादी ढांचागत क्षेत्र के बांडों निवेश करने वाले सम्पत्ति प्रबंध कोषों की यूनिटों के माध्यम से भारतीय ऋण बाजार में पूंजी लगा सकते हैं।