NDTV Khabar

प्रधानमंत्री जनधन योजना : रूपे कार्डधारकों के 1,767 दुर्घटना बीमा दावों का हुआ निपटान

योजना अगस्त 2014 में शुरू की गयी. कुल दावों में 1,767 के मामले में इस साल चार अगस्त तक भुगतान कर दिये गये.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
प्रधानमंत्री जनधन योजना : रूपे कार्डधारकों के 1,767 दुर्घटना बीमा दावों का हुआ निपटान

प्रतीकात्मक चित्र

खास बातें

  1. रूपे कार्डधारकों के 1,767 दुर्घटना बीमा दावों का निपटान किया गया
  2. कुल दावों में 1,767 के मामले में इस साल चार अगस्त तक भुगतान कर दिये गये.
  3. आंकड़े के अनुसार 36 दावों के मामले में भुगतान की अभी प्रतीक्षा है.
नई दिल्ली:

सरकार की प्रमुख वित्तीय समावेशी योजना प्रधानमंत्री जनधन योजना (पीएमजेडीवाई) के तहत रूपे कार्डधारकों के 1,767 दुर्घटना बीमा दावों का निपटान किया गया. वित्त मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार पीएमजेडीवाई के तहत 2,514 दुर्घटना बीमा दावे आयें. इस योजना के तहत एक लाख रुपये का दुर्घटना बीमा उपलब्ध कराया गया है. योजना अगस्त 2014 में शुरू की गयी. कुल दावों में 1,767 के मामले में इस साल चार अगस्त तक भुगतान कर दिये गये. वहीं 144 को लेकर प्रक्रिया जारी है जबकि 544 दावों को खारिज कर दिया गया.
 
आंकड़े के अनुसार 36 दावों के मामले में भुगतान की अभी प्रतीक्षा है.

टिप्पणियां

यह भी पढे़ं: 'जनधन खातों में जमा दोगुना होकर 87,000 करोड़ रुपये पर, पिछले पंद्रह दिन में निकाले 3285 करोड़


पीएमजेडीवाई खाताधारकों को 30,000 रुपये का जीवन बीमा भी उपलब्ध कराता है. इस श्रेणी में चार अगस्त तक 4,165 दावों का निपटान किया गया. आंकड़ों के अनुसार 577 दावों को खारिज किया गया जबकि 10 के मामले में प्रक्रिया जारी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2014 को वित्तीय समावेशी योजना की घोषणा की थी. पीएमजेडीवाई 28 अगस्त को देश भर में शुरू की गयी थी.
Video : पिछले स्वतंत्रता दिवस पर किए पीएम मोदी के कितने वादे हुए पूरे?
 
योजना के तहत 29.48 करोड़ खाताधारक हैं. इसमें से कीब 22.7 करोड़ को रूपे कार्ड जारी किये गये.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement