पीएसयू बैंकों ने पांच साल में 2.49 लाख करोड़ रुपये का कर्ज बट्टे खाते में डाला

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने बीते पांच वित्त वर्ष में लगभग 2.5 लाख करोड़ रुपये के कर्ज को बट्टे खाते में डाला.

पीएसयू बैंकों ने पांच साल में 2.49 लाख करोड़ रुपये का कर्ज बट्टे खाते में डाला

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली:

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने बीते पांच वित्त वर्ष में लगभग 2.5 लाख करोड़ रुपये के कर्ज को बट्टे खाते में डाला. वित्त मंत्रालय ने रिजर्व बैंक के आंकड़ों के हवाले से यह जानकारी दी है. इसके अनुसार एसबीआई और इसके पांच सहयोगी सहित सार्वजनिक क्षेत्र के 27 बैंकों ने 2016-17 में 81,683 करोड़ रुपये के कर्ज को बट्टे खाते में डाला. यह बीते पांच वित्त वर्ष में किसी भी एक साल में सबसे अधिक राशि रही. पूर्व वित्त वर्ष की तुलना में यह 41 प्रतिशत अधिक है.

यह भी पढ़ें : स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) खाताधारक आधार संख्या जोड़ें : चार आसान तरीके

आरबीआई के आंकड़ों के अनुसार एसबीआई तथा इसके पूर्ववर्ती सहयोबी बैंकों ने ही 2016-17 में 27,574 करोड़ रुपये को बट्टे खाते में डाला. एसबीआई के पांच सहयोगी बैंकों का विलय 1 अप्रैल, 2017 से एसबीआई में हो गया.

आंकड़ों के अनुसार पीएसयू बैंकों द्वारा बट्टे खाते में डाली गई राशि 2012-13 में 27,231 करोड़ रुपये से बढ़कर 2015-16 में 57,586 क​रोड़ रुपये और 2016-17 में और बढ़कर 81,683 करोड़ रुपये हो गई.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: सस्ते हो सकते हैं होम लोन
इसके अनुसार बीते पांच वित्त वर्ष के बट्टे खाते में डाली गई कुल राशि मार्च 2017 को 2,49,927 करोड़ रुपये रही. आंकड़ों के अनुसार 2016-17 में पंजाब नेशनल बैंक ने 9,205 करोड़ रुपये, बैंक ऑफ इंडिया ने 7346 करोड़ रुपये, केनरा बैंक ने 5545 करोड़ रुपये की राशि बट्टे खाते में डाली.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)