NDTV Khabar

तिमाही नतीजों और मुद्रास्फीति के आंकड़ों से तय होगी बाजार की दिशा

एचडीएफसी बैंक, आईटीसी और विप्रो जैसी बड़ी कंपनियों के तिमाही नतीजों तथा मुद्रास्फीति के आंकड़े इस सप्ताह शेयर बाजार की दिशा तय करेंगे.विश्लेषकों ने यह राय जताई है.

5 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
तिमाही नतीजों और मुद्रास्फीति के आंकड़ों से तय होगी बाजार की दिशा

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. बड़ी कंपनियों के तिमाही नतीजे शेयर बाजार की दिशा तय करेंगे
  2. 'बाजार में मौजूदा सकारात्मक रुख बना रहेगा'
  3. दिसंबर महीने की खुदरा मुद्रास्फीति बढ़कर 5.2 प्रतिशत रही है
नई दिल्ली: एचडीएफसी बैंक, आईटीसी और विप्रो जैसी बड़ी कंपनियों के तिमाही नतीजों तथा मुद्रास्फीति के आंकड़े इस सप्ताह शेयर बाजार की दिशा तय करेंगे.विश्लेषकों ने यह राय जताई है. जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘तरलता की मजबूत स्थिति और वैश्विक बाजारों में तेजी के रुख से बाजार में मौजूदा सकारात्मक रुख बना रहेगा. निकट भविष्य में बाजार की निगाह तिमाही नतीजों के सीजन तथा बजट से संबंधित संकेतकों पर होगी.’’ इसके अलावा बाजार औद्योगिक उत्पादन और खुदरा मुद्रास्फीति के आंकड़ों पर भी प्रतिक्रिया देंगे, जो शुक्रवार को कारोबार बंद होने के बाद आए थे. नवंबर में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर 8.4 प्रतिशत के 17 माह के उच्चस्तर पर पहुंच गई है. वहीं, दिसंबर महीने की खुदरा मुद्रास्फीति बढ़कर 5.2 प्रतिशत रही है.

यह भी पढ़ें: औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर 17 महीने के उच्चस्तर पर, लेकिन मुद्रास्फीति ने दिया झटका - 10 खास बातें

अरिहंत कैपिटल मार्केट्स की पूर्णकालिक निदेशक अनीता गांधी ने कहा, ‘‘शेयर बाजारों में सकारात्मक रुख रहा. बाजार अपनी नए रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुए. तिमाही नतीजों का सीजन शुरू हो गया है. टीसीएस के नतीजे उम्मीद के अनुरूप रहे है. इन्फोसिस के परिणाम भी अच्छे रहे। बाजार में उत्साह है. हालांकि, कच्चे तेल के बढ़ते दाम चिंता का विषय हैं. बीते सप्ताह बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 438.54 अंक या 1.28 प्रतिशत चढ़ा. नेशनल स्टाक एक्सचेंज के निफ्टी में 122.40 अंक या 1.15 प्रतिशत का लाभ रहा.

यह भी पढ़ें: इंफोसिस का मुनाफा 38 प्रतिशत बढ़कर 5,129 करोड़ रुपये पर पहुंचा

टिप्पणियां
एपिक रिसर्च के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मुस्तफा नदीम ने कहा, ‘‘सोमवार को मुद्रास्फीति के आंकड़े पर निगाह रहेगी. सप्ताह के दौरान कुछ बड़ी कंपनियों मसलन हिंदुस्तान यूनिलीवर, यस बैंक, आईटीसी और कोटक महिंद्रा के नतीजे आएंगे.’’ शुक्रवार को इन्फोसिस का अक्तूबर-दिसंबर तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ 38.3 प्रतिशत बढ़कर 5,129 करोड़ रुपये रहा. बाजार पर इसका भी असर दिखेगा.

VIDEO: एक शुरुआत शेयर बाजार को समझने की...
कोटक सिक्योरिटीज के उपाध्यक्ष पीसीजी रिसर्च संजीव जरबादे ने कहा, ‘‘अब सभी की निगाह मौजूदा तिमाही नतीजों के सीजन और आगामी आम बजट पर होगी.’’ सैम्को सिक्योरिटीज के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिमीत मोदी ने कहा कि बाजार की निगाह बजट में महत्वपूर्ण नीतिगत घोषणाओं पर रहेगी. निकट भविष्य में इसी से बाजार की दिशा तय होगी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement