NDTV Khabar

मौद्रिक नीति समीक्षा में RBI ने नहीं किया रेपो रेट में कोई बदलाव

जून से केंद्रीय बैंक ने नीतिगत दरों में लगातार दो बार इजाफा किया है. उसके बाद अक्टूबर में केंद्रीय बैंक ने बाजार को हैरान करते हुए ब्याज दरों को यथावत रखा था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मौद्रिक नीति समीक्षा में RBI ने नहीं किया रेपो रेट में कोई बदलाव

रिजर्व बैंक अन्य वाणिज्यिक बैंकों को जिस दर पर ऋण देता है उसे रेपो दर कहते हैं.

खास बातें

  1. रेपो और रिवर्स रेपो रेट दोनों में कोई बदलाव नहीं.
  2. जून से नीतिगत दरों में लगातार दो बार इजाफा हुआ है.
  3. चालू वित्त वर्ष की 5वीं द्वैमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा.
नई दिल्ली: भारतीय रिजर्व बैंक की बुधवार को हुई मौद्रिक नीति समीक्षा में रेपो दर में कोई बदलाव नहीं किया गया. रेपो दर 6.5 फीसदी पर बरकरार रहा है और रिवर्स रेपो रेट भी 6.25 फीसदी पर ही बरकरार रहेगा. जून से केंद्रीय बैंक ने नीतिगत दरों में लगातार दो बार इजाफा किया है. उसके बाद अक्टूबर में केंद्रीय बैंक ने बाजार को हैरान करते हुए ब्याज दरों को यथावत रखा था. हालांकि, रुपए में गिरावट तथा कच्चे तेल की ऊंची कीमतों की वजह से मुद्रास्फीतिक दबाव के चलते उम्मीद की जा रही थी कि ब्याज दरों में इजाफा होगी. उस समय रेपो दर को 6.50 प्रतिशत पर कायम रखा गया था. 

बता दें, रिजर्व बैंक अन्य वाणिज्यिक बैंकों को जिस दर पर ऋण देता है उसे रेपो दर कहते हैं. रिजर्व बैंक गवर्नर उर्जित पटेल की अगुवाई वाली मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की छह सदस्यीय समिति की बैठक तीन दिसंबर से हो रही है. यह चालू वित्त वर्ष की पांचवीं द्वैमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक है.

टिप्पणियां
आरबीआई ने जारी की मौद्रिक समीक्षा : प्रमुख ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं, रेपो दर 6.5 फीसदी पर बरकरार

सिंपल समाचार: जानिये क्या होता है रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement