1 फरवरी से ATM से कैश निकासी की सीमा समाप्त, पर हफ्ते में 24 हजार रुपए ही निकाल सकेंगे

1 फरवरी से ATM से कैश निकासी की सीमा समाप्त, पर हफ्ते में 24 हजार रुपए ही निकाल सकेंगे

1 फरवरी से ATM से कैश निकालने की सीमा हटा दी जाएगी : RBI (प्रतीकात्मक फोटो)

खास बातें

  • नोटबंदी के बाद ATM से कैश निकालने को लेकर लगी सीमा समाप्त
  • सेविंग अकाउंट से सप्ताह में 24,000 रु निकासी की सीमा कायम
  • चालू खातों, कैश क्रेडिट (Cash Credit) खातों और ओवरड्राफ्ट से सीमा हटी
नई दिल्ली:

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने सोमवार को ऐलान किया कि नोटबंदी के बाद ATM से कैश निकालने को लेकर लगाई गई सीमा 1 फरवरी से पूरी तरह से हटा दी जाएगी. बता दें कि 16 जनवरी को भारतीय रिजर्व बैंक ने बैंक एटीएम से पैसे निकालने की सीमा प्रतिदिन 4500 रुपए से बढ़ाकर रोजाना 10,000 रुपए कर दिया था. हालांकि रिजर्व बैंक ने सप्ताह में 24,000 रुपए निकासी की सीमा को बरकरार रखा है. यानी बचत बैंक खातों से अब एक दिन में एटीएम से अधिकतम 24000 रुपये तक की निकासी की जा सकती है. यह सीमा केवल बचत खातों (सेविंग अकाउंट) को लेकर है. केंद्रीय बैंक ने इसके साथ ही वादा किया है कि प्रणाली में नकदी लौटने की गति को ध्यान में रखते हुए वह साप्ताहिक सीमा पर भी भविष्य में फिर से विचार करेगा.

आरबीआई की ओर से जारी एक अधिसूचना में कहा गया है कि चालू खातों, कैश क्रेडिट (Cash Credit) खातों और ओवरड्राफ्ट (Over draft) खातों से निकासी पर लागू प्रतिबंध हटा लिया गया है. साथ ही एटीएम से निकासी सीमा भी समाप्त कर दी गई है, लेकिन बचत खातों पर लगाई गई निकासी सीमा हटाने के बारे में आगे विचार किया जाएगा.


केंद्रीय बैंक ने कहा है, ‘बाजार में गयी नकदी के बैंक में लौटने की गति की समीक्षा करने के बाद पूर्व की स्थिति को आंशिक रूप से बहाल करने का फैसला किया गया है.’ इसके अनुसार एक फरवरी 2017 से एटीएम से नकदी निकासी की दैनिक सीमा नहीं रहेगी. हालांकि बैंकों से अपनी अपनी निकासी सीमा तय करने को कहा गया है जैसा कि वे 8 नवंबर 2016 से पहले कर रहे थे. सरकार ने उसी इसी दिन 1000 और 500 रुपये मूल्य के पुराने नोटों पर पाबंदी की घोषणा करते हुए नकदी निकासी पर विभिन्न तरह के प्रतिबंध लगाए थे. इसके साथ ही केंद्रीय बैंक ने चालू खातों, नकदी ऋण खातों व ओवर ड्राफ्ट खातों से नकदी निकासी की सारी सीमाएं तत्काल प्रभाव से समाप्त करने का फैसला किया है. इसके अनुसार, ‘बचत बैंक खातों पर सीमाएं फिलहाल जारी रहेंगी और निकट भविष्य में इन्हें हटाने पर विचार किया जा रहा है.’

सरकार व रिजर्व बैंक ने नोटबंदी के बाद नकदी संकट को देखते हुए बैंकों व एटीएम से निकासी पर कुछ प्रतिबंध लगाए थे. हालांकि बाद में 2000 और 500 रुपये के नए नोटों की आपूर्ति बढ़ाने के साथ इन प्रतिबंधों में क्रमिक ढील दी गई. 8 नवंबर को पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा नोटबंदी की घोषणा किए जाने के बाद बैंक खातों से पैसे की निकासी सीमित कर दी गई थी. नोटबंदी के बाद एटीएम से 2000 रुपए रोजाना निकालने की अनुमति थी जिसे बाद में बढ़ाकर 2500 रुपए किया गया था. इस सीमा को 31 दिसंबर 2016 को रिवाइज किया गया और 1 जनवरी 2017 से लागू नियम के मुताबिक यह सीमा बढ़ाकर 4500 प्रतिदिन कर दी गई थी.

(इनपुट भाषा से...)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com