लगातार तीन साल घाटे में रहने के बाद SAIL ने कमाया 2179 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ

देश की सबसे बड़ी सार्वजनिक स्टील उत्पादक कंपनी स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड यानी कि सेल ने वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान शुद्ध लाभ कमाया.

लगातार तीन साल घाटे में रहने के बाद SAIL ने कमाया 2179 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

देश की सबसे बड़ी सार्वजनिक स्टील उत्पादक कंपनी स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड यानी कि सेल ने वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान शुद्ध लाभ कमाया. कंपनी का एक तरह कायाकल्प हुआ है जिसे आम भाषा मे टर्नअराउंड कहते है यानि घाटे से मुनाफ़ा हासिल करना. सेल ने लगातार तीन वित्त वर्ष के घाटे के बाद बड़ा मुनाफ़ा दर्ज किया है. कंपनी ने वित्त वर्ष 2018-19 का वार्षिक वित्तीय परिणाम घोषित किया और 2178.82 करोड़ रूपये का शुद्ध लाभ (कर-पश्चात लाभ) दर्ज किया है. कंपनी  पिछले वित्त वर्ष 2017-18 में 481.71 करोड़ रूपये के घाटे में थी. सेल ने वित्त वर्ष 2018-19 में दौरान पूरे साल बाज़ार के हालात  के मुताबिक, कंपनी के निष्पादन को बेहतर करने के लिए गहन प्रयास किया, जिससे उच्च उत्पादकता हासिल करने, प्रोडक्ट मिक्स को और बेहतर बनाने और वैल्यू एडेड स्टील की हिस्सेदारी बढ़ाने में मदद मिली.

सेंसेक्स 330 अंक के उछाल से रिकॉर्ड स्तर पर, निफ्टी भी नए उच्चतम स्तर पर


सेल अध्यक्ष अनिल कुमार चौधरी ने कंपनी के इस बेहतर प्रदर्शन को सेल परिवार के संगठित प्रयास और टीम वर्क को समर्पित किया. उन्होंने कहा की सेल परिवार ने इस कायाकल्प को हासिल करने के लिए मिशन मोड में काम किया और अपने संगठित प्रयासों से हासिल करके दिखाया. इससे आने वाले समय में बेहतर निष्पादन के हमारे संकल्प को और भी अधिक बल मिला है. हम सेल को उच्च निष्पादन की अगली कतार में खड़ा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. पिछले वित्त वर्ष का यह निष्पादन हमें और बड़े लक्ष्य की ओर बढ़ने का मजबूत भरोसा पैदा करता है तथा स्पेशल एंड वैल्यू एडेड स्टील एवं प्रमुख उत्पादों के उत्पादन को बढ़ाने पर फोकस करने के साथ ही अपनी परिष्कृत मिलों से उत्पादन बढ़ाने की दिशा में गहन प्रयासों को बल प्रदान करता है.

Stock Market: बाजार में तीन दिन से जारी गिरावट पर लगा विराम, सेंसेक्स 248 अंक गिरा


सेल ने वित्त वर्ष 2018-19 में अपनी नई मिलों से उत्पादन में महत्वपूर्ण वृद्धि दर्ज की है और अपनी उत्पाद बास्केट में कई महत्वपूर्ण और नए उत्पाद शामिल किए हैं. कंपनी ने अपनी बढ़ी हुई उत्पादकता से डिस्पैच में हुई वृद्धि को समुचित तरीके से पूरा करने के लिए एक डेडिकेटेड लॉजिस्टिक सेट-अप बनाया है. सेल ने वित्त वर्ष 2018-19 में अब तक सर्वाधिक 9.85 लाख टन UTS 90 रेल का उत्पादन किया है. वित्त वर्ष 2018-19 की चौथी तिमाही में सेल ने 468 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया है. 

देश के शेयर बाजार के शुरुआती कारोबार में सोमवार को मजबूती का रुख


इस अवधि के दौरान EBITDA 2461 करोड़ रुपये रहा. इसके साथ ही सेल ने इस तिमाही में पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि के मुक़ाबले 9% की वृद्धि के साथ 18,323 करोड़ रुपये का  कारोबार किया है. वित्त वर्ष 2018-19 की चौथी तिमाही में सेल ने हॉट मेटल, क्रूड स्टील, सेलेबल स्टील और इस्पात विक्रय में क्रमश: 10%, 8%, 14% और 13% की वृद्धि दर्ज की है. देश की साथ महारत्न कंपनी में से एक सेल की ये सफलता काफी मायने रखती है क्योंकि दुनिया भर में स्टील निर्माण की कंपनिया घाटे में चल रही है.

VIDEO: शेयर बाजार में बड़ी उछाल

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com