म्यूचुअल फंड के CEOs के वेतन में बढ़ोतरी, घाटे वाले कोषों ने भी दिया बड़ा वेतन

म्यूचुअल फंड के CEOs के वेतन में बढ़ोतरी, घाटे वाले कोषों ने भी दिया बड़ा वेतन

म्यूचुअल फंड के CEOs के वेतन में बढ़ोतरी, घाटे वाले कोषों ने भी दिया बड़ा वेतन (प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली:

देश के सबसे बड़े म्यूचुअल फंडों ने अपने मुख्य कार्यकारी अधिकारियों के वेतन में उल्लेखनीय वृद्धि की है क्योंकि उनका कारोबार अच्छा हुआ है लेकिन कई छोटे म्यूचुअल फंड जिन्होंने नुकसान दर्ज किया या कम लाभ अर्जित किया है उन्होंने भी अपने शीर्ष कार्यकारियों को करोड़ों रुपये का वेतन दिया है.

यह खुलासा बाजार नियामक सेबी के उस अनिवार्य नियम के तहत किया गया है जिसमें सभी म्यूचुअल फंड कंपनियों को अपने शीर्ष अधिकारियों के वेतन की जानकारी देनी होती है ताकि निवेशकों को इस बारे में पता चल सके. इस संबंध में वित्त वर्ष 2016-17 के लिए आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल, एचडीएफसी और रिलायंस म्यूचुअल फंड जैसी प्रमुख कोष कंपनियों ने स्पष्ट घोषणा की है जबकि कुछ ने इसे सीधे निवेशकों की पहुंच के लिए मुश्किल बना दिया है.

वे निवेशकों के साथ जानकारी साझा करने से पहले फोलियो संख्या इत्यादि की जानकारी मांग रहे हैं जबकि कुछ कंपनियां इसे एक-दो दिन में सीधे निवशकों तक पहुंचा रही हैं. देश के शीर्ष पांच म्यूचुअल फंड में से एचडीएफसी म्यूचुअल फंड ने अपने मुख्य कार्यकारी अधिकारी मिलिंद बार्वे को वित्त वर्ष 2016-17 में 6.49 करोड़ रपये का वेतन दिया है जिन्हें 2015-16 में 6.25 करोड़ रपये का वेतन मिला था.

इसी तरह आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड ने अपने प्रबंध निदेशक निमेष शाह को 5.96 करोड़ रपये वेतन दिया जो 2015-16 में 5.4 करोड़ रपये था.
 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com