NDTV Khabar

SBI के कस्टमर नहीं हैं तो भी कर सकते हैं इस 'बटुए' से खरीददारी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
SBI के कस्टमर नहीं हैं तो भी कर सकते हैं इस 'बटुए' से खरीददारी

प्रतीकात्मक तस्वीर

लखनऊ:

डिजिटल बैंकिंग के तहत भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) का लॉन्च किया गया मोबाइल ई-वॉलेट (बटुआ) 'एसबीआई बडी' आपके काम की चीज हो सकती है। एसबीआई फ्रीडम व एसबीआई एनीवेयर के बाद आया यह नया ऐप एसबीआई व गैर एसबीआई दोनों तरह के उपभोक्ताओं के लिए है।

इस ऐप का आपके अकाउंट से कोई लेना देना नहीं
इस ऐप का अकाउंट से कोई संबंध नहीं है, इसमें पैसा रखना है, जैसे अपने पर्स या बटुआ में रखा जाता है। 'एसबीआई फ्रीडम व एनीव्हेयर दोनों एप सीधे एकाउंट से जुड़े हैं, इसमें लॉग इन करना पड़ता है।

एसबीआई बडी मात्र एक पिन नंबर से खुल जाएगा। 13 भाषाओं में इस वॉलेट को तैयार किया गया है। एसबीआई बडी से आप आसानी से ऑनलाइन शापिंग कर सकते हैं। साथ ही ट्रैवल, होटलों की भी बुकिंग हो सकेगी।

एंड्रायड फोन है तो यह ऐप गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। एसबीआई बड़ी के जरिये शापिंग के लिए मर्चेंट का ऐप डाउनलोड करना जरूरी नहीं होगा। मौजूदा ग्राहकों के अलावा नए ग्राहक भी इसका इस्तेमाल कर पाएंगे। इसके इस्तेमाल के लिए एसबीआई का ग्राहक होना जरूरी नहीं है।


इसे डाउनलोड करके किसी व्यक्ति के वॉलेट में 1 रुपया ट्रांसफर करना है। जिसे ट्रांसफर किया जाएगा, उसे बैंक 25 रुपये बोनस देगा और जिसने ट्रांसफर किया उसे दस रुपये।

इस तरह इसमें डालें पैसा
आप अपने मोबाइल वॉलेट में किसी भी बैंक के खाते से नेट बैंकिंग, डेबिट कार्ड आदि के माध्यम से पैसा डाल सकते हैं एवं जरूरत के मुताबिक पैसे का ट्रांसफर या उपयोग कर सकते हैं। इस वॉलेट में प्रतिमाह 10,000 रुपये तक लोड किया जा सकता है।

इसके जरिये किसी को पैसा भेज भी सकते हैं। ऑनलाइन खरीदारी, होटल बुक कर सकते हैं, मोबाइल व डीटीएच रिचार्ज करा सकते हैं, ऑनलाइन बिजली, गैस, बीमा कंपनी व मोबाइल आदि के बिल का भुगतान कर सकते हैं। रेल, फिल्म, बस या हवाई जहाज का टिकट खरीद सकते हैं। किसी भी वॉलेट उपभोक्ता को धन भेज सकते हैं या उससे धन मंगा सकते हैं।

टिप्पणियां

एसबीआई के ग्राहक नहीं हैं तो भी यूज कर सकते हैं
एसबीआई अधिकारियों के मुताबिक, यह बिल्कुल नया ऐप है। इस एप का उपयोग देश का कोई भी व्यक्ति कर सकता है, इसके लिए जरूरी नहीं कि वह एसबीआई का ग्राहक ही हो। इसे संचालित करने के लिए इंटरनेट बैंकिंग की जरूरत भी नहीं है।

इसमें एक सामान्य उपभोक्ता भी जिसके पास इंटरनेट बैंकिंग नहीं है, वह अपने एटीएम कार्ड से इसमें पैसे डाल सकता है। इस एप से ऑनलाइन खरीदारी को मदद मिलेगी और पैसा लेकर बाजार जाने की जरूरत धीरे-धीरे कम हो जाएगी।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement