NDTV Khabar

मुद्रास्फीति बढ़ने से शेयर बाजार में गिरावट, सेंसेक्स 33,000 के स्तर से नीचे फिसला

कारोबार के दौरान सेंसेक्स ज्यादातर समय 33,000 के स्तर से ऊपर रहा, लेकिन आखिर में यह 91.69 अंक यानी 0.28 प्रतिशत गिरकर 32,941.87 अंक पर बंद हुआ.

1Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मुद्रास्फीति बढ़ने से शेयर बाजार में गिरावट, सेंसेक्स 33,000 के स्तर से नीचे फिसला

फाइल फोटो

मुंबई: मुद्रास्फीति का आंकड़ा ऊपर जाने से देश के शेयर बाजारों में गिरावट रही. बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स कारोबार के दौरान कई बार 33,000 अंक से ऊपर गया, लेकिन आखिरकार कारोबारी धारणा कमजोर पड़ने से यह 91.69 अंक गिरकर 32,941.87 अंक पर बंद हुआ. बाजार सूत्रों का कहना है कि मुद्रास्फीति बढ़ने से रिजर्व बैंक के समक्ष ब्याज दर में कटौती की गुंजाइश कम होगी, जिसका औद्योगिक गतिविधियों पर बुरा असर होगा. थोक मुद्रास्फीति के अक्टूबर माह के आंकड़े में यह छह माह के उच्चस्तर 3.59 प्रतिशत पर पहुंच गई. खुदरा मुद्रास्फीति भी सात माह के उच्चस्तर पर पहुंच गई.

यह भी पढ़ें : टॉप 10 वैल्यूबल कंपनियों में से 6 की बाजार पूंजी 60,422 करोड़ रुपये कम हुई

कारोबार के दौरान सेंसेक्स ने कई बार अपनी चाल बदली. ज्यादातर समय यह 33,000 अंक से ऊपर रहा, लेकिन कारोबार की समाप्ति पर 91.69 अंक यानी 0.28 प्रतिशत गिरकर 32,941.87 अंक पर बंद हुआ. सेंसेक्स में सोमवार को भी 281 अंक की गिरावट आई थी. व्यापक आधार वाला एनएसई का निफ्टी भी इसी तरह के कारोबार में 38.35 अंक यानी 0.38 प्रतिशत गिरकर 10,186.60 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान यह ऊंचे में 10,248 और नीचे में 10,175.55 अंक रहा.

VIDEO : जानिए सुरक्षित निवेश के बेहतरीन विकल्प के बारे में
रुपये में लगातार गिरावट से भी निवेशकों की धारणा पर बुरा असर पड़ा. विश्लेषकों के अनुसार कच्चे तेल के अंतराष्ट्रीय बाजार में ब्रेंट क्रूड का भाव 64 डॉलर तक पहुंच जाने से भी नीतिगत ब्याज दरों में कटौती की उम्मीद कमजोर पड़ी है.
(इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement