NDTV Khabar

धीमी पड़ी सेंसेक्स की रफ्तार, हल्की बढ़त लेकर बंद हुआ बाजार

रिजर्व बैंक की समीक्षा बैठक के ब्यौरे में मुद्रास्फीति को लेकर चिंता व्यक्त किये जाने से बैंकिंग शेयरों में गिरावट रही.

54 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
धीमी पड़ी सेंसेक्स की रफ्तार, हल्की बढ़त लेकर बंद हुआ बाजार

संवेदी सूचकांक ज्यादातर समय ऊंचा रहा एक समय 31,937.51 अंक तक पहुंच गया

खास बातें

  1. रिजर्व बैंक की समीक्षा बैठक के ब्यौरे में मुद्रास्फीति को लेकर चिंता
  2. ऑटो और स्वास्थ्य देखभाल कंपनियों के शेयरों में गिरावट जारी रही
  3. इंफोसिस के शेयरों में तेजी के चलते बाजार में अच्छी बढ़त रही
मुंबई: देश के शेयर बाजारों में गुरुवार को शुरुआती तेजी बाद में हल्की पड़ गई. अमेरिका के फेडरल रिजर्व की समीक्षा बैठक के ब्यौरे में निकट भविष्य में दर वृद्धि को लेकर अनिश्चितता का संकेत दिया गया है. इधर, रिजर्व बैंक की समीक्षा बैठक के ब्यौरे में मुद्रास्फीति को लेकर चिंता व्यक्त किये जाने से बैंकिंग शेयरों में गिरावट रही. ऑटो और स्वास्थ्य देखभाल कंपनियों के शेयरों में भी गिरावट रही. बंबई शेयर बाजार का संवेदी सूचकांक जो कि दिन के ज्यादातर समय ऊंचा रहा एक समय 31,937.51 अंक तक पहुंच गया. 

यह भी पढ़ें: अब सभी की निगाहें क्रेडिट पॉलिसी की समीक्षा पर

इनफोसिस के शेयरों में तेजी के चलते बाजार में अच्छी बढ़त रही. इनफोसिस के बाय बैक प्रस्ताव और घरेलू संस्थागत निवशेकों की लगातार लिवाली से इसमें तेजी रही. कारोबार की समाप्ति पर मुनाफा वसूली से शुरुआती बढ़त गंवाते हुये संवेदी सूचकांक 24.57 अंक यानी 0.08 प्रतिशत ऊंचा रहकर 31,795.46 अंक पर बंद हुआ.

VIDEO: निवेश से पहले बरतें सतर्कता

इससे पहले दो सत्रों के दौरान संवेदी सूचकांक 557.30 अंक बढ़ा है. व्यापक आधार वाला नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी सूचकांक आज फिर से 9,900 अंक के स्तर को पार कर गया. कारोबार के दौरान एक समय यह 9,947.80 अंक को छू गया लेकिन कारोबार की समाप्ति पर इसने काफी बढ़त गंवा दी और मात्र 6.85 प्रतिशि यानी 0.07 प्रतिशत बढ़कर 9,904.15 अंक पर बंद हुआ.

देश की दूसरी बड़ी साफ्टवेयर कंपनी इनफोसिस का शेयर मूल्य 4.54 प्रतिशत बढ़कर 1,021.15 रुपये हो गया. कंपनी निदेशक मंडल नें कहा है कि वह शनिवार को कंपनी शेयरों के बॉय बैंक के प्रस्ताव पर विचार करेगा. कंपनी की इस घोषणा से प्रमुख सूचकांकों में लगातार तीसरे दिन तेजी का रुख बने रहने में मदद मिलेगी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement