NDTV Khabar

एयर इंडिया की रणनीतिक बिक्री के लिये सलाहकार बनने की दौड़ में सात कंपनियां

 निवेश एवं लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) की वेबसाइट पर डाली गई जानकारी के अनुसार सौदे में सलाहकार की भूमिका निभाने के लिए जिन अन्य कंपनियों ने आवेदन किया है उनमें ईवाई, ग्रांट थॉर्नटन, एडलवीस और आईसीआईसीआई सिक्युरिटीज शामिल हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एयर इंडिया की रणनीतिक बिक्री के लिये सलाहकार बनने की दौड़ में सात कंपनियां

प्रतीकात्मक चित्र.

नई दिल्ली:

केपीएमजी, बीएनपी परिबा और रॉथ्सचाइल्ड इंडिया प्राइवेट लि. सहित सात कंपनियां एयर इंडिया और उसकी अनुषंगियों की रणनीतिक बिक्री में सलाहकार बनने के लिये दौड़ में हैं. निवेश एवं लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग :दीपम: की वेबसाइट पर डाली गई जानकारी के अनुसार सौदे में सलाहकार की भूमिका निभाने के लिए जिन अन्य कंपनियों ने आवेदन किया है उनमें ईवाई, ग्रांट थॉर्नटन, एडलवीस और आईसीआईसीआई सिक्युरिटीज शामिल हैं.

टिप्पणियां

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने जून में घाटे में चल रही इस एयरलाइन के रणनीतिक विनिवेश का फैसला किया था. एयर इंडिया फिलहाल करदाताओं के धन के सहारे परिचालन कर रही है. एक मंत्री स्तरीय समिति एयर इंडिया के विनिवेश के तरीके पर काम कर रही है. हम्मूराबी एंड सोलोमन पार्टनर्स, साइरिल अमरचंद मंगलदास सहित सात विधि कंपनियों ने कंपनी की शेयर बिक्री में कानूनी सलाहकार की भूमिका निभाने के लिए आवेदन किया है. सात विधि कंपनियों में शार्दुल अमरदास मंगलदास, क्रॉफोर्ड बायले एंड कंपनी, लूथरा एंड लूथरा, एएलएमटी लीगल और ट्राईलीगल भी शामिल हैं.


ये कंपनियां कल दीपम के समक्ष प्रस्तुतीकरण देंगी. दीपम ने सितंबर में एयर इंडिया और उसकी अनुषंगियों के रणनीतिक विनिवेश के लिए दो सलाहकारों और एक विधि सलाहकार की नियुक्ति को आवेदन आमंत्रित किए थे. एयर इंडिया पर कुल 50,000 करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज का बोझ है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement