NDTV Khabar

गुरुवार की नरमी दरकिनार, फिर हरे निशान में शेयर बाजार

सुबह करीब 9.20 बजे 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 103 अंक ऊपर 35,349 पर कारोबार कर रहा था जबकि 50 शेयरों वाला निफ्टी 32 अंकों की तेजी के साथ 10,748 पर कारोबार कर रहा था. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुरुवार की नरमी दरकिनार, फिर हरे निशान में शेयर बाजार

शेयर बाजार.

मुंबई: सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को शेयर बाजार गुरुवार की नरमी को नकारते हुए हरे निशान के साथ खुले. सुबह करीब 9.20 बजे 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 103 अंक ऊपर 35,349 पर कारोबार कर रहा था जबकि 50 शेयरों वाला निफ्टी 32 अंकों की तेजी के साथ 10,748 पर कारोबार कर रहा था. देश के शेयर बाजार के शुरुआती कारोबार में शुक्रवार को मजबूती का रुख है. प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स सुबह 9.37 बजे 61.53 अंकों की मजबूती के साथ 35,307.80 पर और निफ्टी भी लगभग इसी समय 21.05 अंकों की बढ़त के साथ 10,737.60 पर कारोबार करते देखे गए. 

बम्बई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 41.72 अंकों की मजबूती के साथ 35,349.85 पर, जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 7.85 अंकों की बढ़त के साथ 10,741.95 पर खुला.

बता दें कि बंबई शेयर बाजार में गुरुवार को तीन दिन से चली आ रही तेजी के सिलसिले पर ब्रेक लग गई थी  और सेंसेक्स 73 अंक टूटकर 35,246.27 अंक पर आ गया था. निवेशकों ने हालिया लाभ वाले शेयरों में मुनाफा काटा जिससे बाजार में यह गिरावट आई थी. 

उल्लेखनीय है कि कर्नाटक में शनिवार को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान है. इससे निवेशकों ने सतर्कता बरती है. वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल के बढ़ते दामों तथा रुपये की कमजोरी की वजह से भी बाजार धारणा प्रभावित हुई थी. 

अमेरिका ने ईरान पर नए सिरे से प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है. इससे कच्चे तेल की कीमतों में तेजी जारी रही. ब्रेंट क्रूड वायदा नवंबर, 2014 के बाद अपने सर्वकालिक उच्चस्तर 77.76 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया है. 

ब्रोकरों ने कहा कि विदेशी कोषों की सतत निकासी तथा कुछ कंपनियों के निराशाजनक नतीजे से भी बाजार धारणा प्रभावित हुई. 

बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में 128 अंक चढ़कर 35,500.76 अंक पर पहुंच गया था. हालांकि, बाद में बाजार 35,203.85 अंक तक नीचे आया. अंत में सेंसेक्स 73.08 अंक या 0.21 प्रतिशत के नुकसान से 35,246.27 अंक पर बंद हुआ था. इससे पिछले तीन सत्रों में सेंसेक्स 403.97 अंक चढ़ा था. 

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 25.15 अंक या 0.23 प्रतिशत के नुकसान से 10,716.55 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान यह 10,705 से 10,785.55 अंक के दायरे में रहा. 

इस बीच , शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने कल शुद्ध रूप से 704.03 करोड़ रुपये के शेयर बेचे. वहीं घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 664.92 करोड़ रुपये की लिवाली की. रुपया टूटकर 15 महीने के निचले स्तर पर आ गया है. इससे मुद्रास्फीति तथा राजकोषीय घाटे को लेकर चिंता बढ़ी है. 

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि सकारात्मक वैश्विक संकेतों के बावजूद बाजार में उतार - चढ़ाव रहा. कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी तथा कमजोर रुपये की वजह से बाजार में उतार - चढ़ाव रहा. 

सेंसेक्स की कंपनियों में डॉ रेड्डीज 3.70 प्रतिशत , टाटा मोटर्स 2.34 प्रतिशत , सनफार्मा 1.85 प्रतिशत , पावर ग्रिड 1.77 प्रतिशत , बजाज आटो 1.62 प्रतिशत , टाटा स्टील 1.44 प्रतिशत , एनटीपीसी 1.20 प्रतिशत , टीसीएस 1.03 प्रतिशत , यस बैंक 0.91 प्रतिशत तथा आईटीसी लि . 0.85 प्रतिशत नीचे आया. 

टिप्पणियां
वहीं दूसरी ओर ओएनजीसी का शेयर 2.87 प्रतिशत चढ़ गया. भारती एयरटेल में 1.92 प्रतिशत , रिलायंस इंडस्ट्रीज में 0.55 प्रतिशत , एचडीएफसी बैंक में 0.54 प्रतिशत , कोल इंडिया में 0.45 प्रतिशत , एचडीएफसी लि . में 0.25 प्रतिशत , इंडसइंड बैंक में 0.17 प्रतिशत तथा एक्सिस बैंक में 0.15 प्रतिशत का लाभ रहा. 

बीएसई मिडकैप में 1.52 प्रतिशत तथा स्मॉलकैप में 1.36 प्रतिशत की गिरावट आई. एशियाई बाजारों में जापान का निक्की 0.39 प्रतिशत चढ़ा. चीन के शंघाई कम्पोजिट में 0.50 प्रतिशत तथा हांगकांग के हैंगसेंग में 0.96 प्रतिशत का लाभ रहा. 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement