NDTV Khabar

सेंसेक्स में तेजी, निफ्टी ने 10,800 का आंकड़ा छुआ, तेल के दाम बढ़ने से पेट्रोलियम कंपनियों को फायदा

सेंसेक्स सुबह 9.20 बजे 30 अंक ऊपर 35,566 पर, वहीं निफ्टी 10 अंक ऊपर 10816 पर कारोबार कर रहा था. निफ्टी में आटो, मेटल, आईटी के शेयर लाल में कारोबार कर रहे थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सेंसेक्स में तेजी, निफ्टी ने 10,800 का आंकड़ा छुआ, तेल के दाम बढ़ने से पेट्रोलियम कंपनियों को फायदा

शेयर बाजार.

मुंबई: देश के शेयर बाजार इस सप्ताह के पहले कारोबारी दिन हरे निशान के साथ खुले. सेंसेक्स सुबह 9.20 बजे 30 अंक ऊपर 35,566 पर, वहीं निफ्टी 10 अंक ऊपर 10816 पर कारोबार कर रहा था. निफ्टी में आटो, मेटल, आईटी के शेयर लाल में कारोबार कर रहे थे. देश के शेयर बाजार सोमवार को मजबूती के साथ खुले. प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स सुबह 9.47 बजे 51.70 अंकों की मजबूती के साथ 35,587.49 पर और निफ्टी भी लगभग इसी समय 14.05 अंकों की बढ़त के साथ 10,820.55 पर कारोबार करते देखे गए. वहीं, तेल के दामों में हल्की वृद्धि के चलते तेल कंपनियों के शेयर में तेजी देखी जा रही है. बता दें कि कहा जा रहा था कि कर्नाटक चुनावों के मद्देनजर तेल के दाम पेट्रोलियम कंपनियां नहीं बढ़ा रही थीं. लेकिन शनिवार को वोटिंग हो गई और अब फिर तेल के दाम कंपनियों ने बढ़ा दिए हैं. कर्नाटक में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होने के बाद पेट्रोल की कीमत में 17 पैसे जबकि डीजल के मूल्य में 21 पैसे की वृद्धि की गई है.

बम्बई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 20.04 अंकों की मजबूती के साथ 35555.83 पर, जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 8.65 अंकों की बढ़त के साथ 10,815.15 पर खुला.

बता दें कि बीते सप्ताह उत्साहजनक वैश्विक संकेतों के मद्देनजर भारतीय शेयर बाजारों में भी तेजी दर्ज की गई थी. अमेरिका में मुद्रास्फीति में आई नरमी से निवेशकों में जोखिम उठाने का उत्साह बढ़ा. साथ ही, अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच सामान्य होते रिश्ते से इस क्षेत्र में तनाव कम हुआ. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ट ट्रंप और उत्तर कोरिया के प्रमुख किम जोन-उन अगले महीने सिंगापुर में मुलाकात करेंगे और उम्मीद है कि इस बैठक से कोरियाई प्रायद्वीप में तनाव कम होगा और परमाणु युद्ध का खतरा टलेगा. 

साप्ताहिक आधार पर सेंसेक्स 620.41 अंकों या 1.78 फीसदी की तेजी के साथ 35,535.79 पर बंद हुआ था, जबकि निफ्टी 188.25 अंकों या 1.77 फीसदी की तेजी के साथ 10,806.50 पर बंद हुआ था. वहीं, इस दौरान बीएसई के मिडकैप सूचकांक में 217.02 अंकों या 1.31 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी और यह 16,343.99 पर बंद हुआ, जबकि स्मॉलकैप सूचकांक 173.36 अंकों या 0.96 फीसदी की गिरावट के साथ 17,818.09 पर बंद हुआ था. 

सोमवार को सेंसेक्स 292.76 अंकों या 0.84 फीसदी की तेजी के साथ 35,208.14 पर बंद हुआ था, जबकि निफ्टी 97.25 अंकों या 0.92 फीसदी की तेजी के साथ 10,715.50 पर बंद हुआथा. मंगलवार को सेंसेक्स में 8.18 अंकों या 0.02 फीसदी की तेजी दर्ज की गई और यह 35,216.32 पर बंद हुआ था, जबकि निफ्टी 2.30 अंकों या 0.02 फीसदी की मामूली तेजी के साथ 10,717.80 पर बंद हुआ था. 

बुधवार को शेयर बाजारों में अच्छी तेजी देखी गई और सेंसेक्स 103.03 अंकों या 0.29 फीसदी की तेजी के साथ 35,319.35 पर बंद हुआ था. वहीं, निफ्टी 23.90 अंकों या 0.22 फीसदी की तेजी के साथ 10,741.70 पर बंद हुआ था. गुरुवार को शेयर बाजार में काफी उतार-चढ़ाव रहा और सेंसेक्स 73.08 अंकों या 0.21 फीसदी की गिरावट के साथ 35,246.27 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी 25.15 अंकों या 0.23 फीसदी की गिरावट के साथ 10,716.55 पर बंद हुआ था.

कारोबारी सप्ताह के अंतिम दिन शुक्रवार को वैश्विक बाजारों से मिले सकारात्मक संदेश के असर से घरेलू शेयर बाजारों में तेजी दर्ज की गई और सेंसेक्स 289.52 अंकों या 0.82 फीसदी की तेजी के साथ 35,535.79 पर बंद हुआ था. वहीं, निफ्टी 89.95 अंकों या 0.84 फीसदी की तेजी के साथ 10,806.50 पर बंद हुआ था.

बीते सप्ताह सेंसेक्स के तेजी वाले शेयरों में प्रमुख रहे - आईटीसी (2.31 फीसदी), हिन्दुस्थान यूनीलीवर (2.93 फीसदी), लार्सन एंड टूब्रो (1.23 फीसदी), रिलायंस इंडस्ट्रीज (3.63 फीसदी), एशियन पेंट्स (7.98 फीसदी), यस बैंक (1.32 फीसदी), कोटक महिंद्रा बैंक (2.75 फीसदी), एचडीएफसी (1.16 फीसदी), एक्सिस बैंक (6.32 फीसदी), आईसीआईसीआई बैंक (9.97 फीसदी), इन्फोसिस (0.69 फीसदी), विप्रो (0.65 फीसदी), मारुति सुजुकी इंडिया (0.68 फीसदी) और महिंद्रा एंड महिंद्रा (1.27 फीसदी). 

टिप्पणियां
सेंसेक्स के गिरावट वाले शेयरों में प्रमुख रहे - डॉ. रेड्डीज (5.46 फीसदी), भारती एयरटेल (2.51 फीसदी), एनटीपीसी (2.05 फीसदी), टीसीएस (0.58 फीसदी), बजाज मोटोकॉर्प (2.51 फीसदी), हीरो मोटोकॉर्प (1.19 फीसदी) और टाटा मोटर्स (1.05 फीसदी).

वैश्विक मोर्चे पर, चीन के निर्यात में अप्रैल में पिछले साल के इसी महीने की तुलना में 12.9 फीसदी तेजी दर्ज की गई थी. अमेरिका में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक पर आधारित मुद्रास्फीति में अप्रैल में 0.2 फीसदी की मामूली तेजी रही. वहीं, अप्रैल में अमेरिका के थोक मूल्य सूचकांक में 0.1 फीसदी की मामूली तेजी रही थी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement