NDTV Khabar

शेयर बाजार में तेजी, सेंसेक्स और निफ्टी हरे निशान के साथ खुले

सुबह 9.20 बजे सेंसेक्स 119 अंक की तेजी के साथ 34782 पर कारोबार कर रहा था जबकि निफ्टी 34 अंक ऊपर 10547 पर कारोबार कर रहा था. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शेयर बाजार में तेजी, सेंसेक्स और निफ्टी हरे निशान के साथ खुले

शेयर बाजार.

मुंबई: शेयर बाजार में सप्ताह के अंतिम कारोबारी दिन तेजी का रुख देखने को मिल रहा है. सेंसेक्स और निफ्टी हरे निशान के साथ खुले हैं. सुबह 9.20 बजे सेंसेक्स 119 अंक की तेजी के साथ 34782 पर कारोबार कर रहा था जबकि निफ्टी 34 अंक ऊपर 10547 पर कारोबार कर रहा था. देश के शेयर बाजार शुक्रवार को मजबूती के साथ खुले. प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स सुबह 9.54 बजे 155.44 अंकों की मजबूती के साथ 34,818.55 पर और निफ्टी भी लगभग इसी समय 43.50 अंकों की बढ़त के साथ 10,557.35 पर कारोबार करते देखे गए. 

बम्बई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 90.36 अंकों की बढ़त के साथ 34,753.47 पर, जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 19.2 अंकों की मजबूती के साथ 10,533.05 पर खुला.

मिश्रित वैश्विक संकेतों के बीच नरम रुपये के कारण सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) कंपनियों के शेयरों में जमकर हुई लिवाली की बदौलत गुरुवार को बाजार गिरावट से उबरने में कामयाब रहा. बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पूरे दिन कारोबार के दौरान मजबूती में रहा था. कारोबार के दौरान यह 34,741.46 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर तक पहुंचा और अंतत: 318.20 अंक यानी 0.93 प्रतिशत की बढ़त लेकर 34,663.11 अंक पर बंद हुआ था.

बुधवार को यह 306.33 अंक कमजोर हुआ था. यह पांच अप्रैल के बाद की इसकी सबसे बड़ी एकदिनी बढ़त है. पांच अप्रैल को यह 577.73 अंक मजबूत हुआ था. विश्लेषकों ने कहा कि घरेलू संस्थागत निवेशकों की जारी खरीदारी ने भी बाजार को मजबूती दी.

गुरुवार को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी भी 10,535.15 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर को छूने के बाद कारोबार की समाप्ति पर 83.50 अंक यानी 0.80 प्रतिशत की बढ़त लेकर 10,513.85 अंक पर बंद हुआ था. रुपये के नरम होने से घरेलू आईटी कंपनियों का मुनाफा बढ़ने की उम्मीद के कारण टीसीएस, इंफोसिस, विप्रो, एचसीएल टेक्नोलॉजीज और एलएंडटी इंफोटेक के शेयर 5.85 प्रतिशत तक चढ़ गये थे.

अमेरिका-चीन व्यापार संबंधों तथा वाहन आयात की अमेरिका में शुरू राष्ट्रीय सुरक्षा जांच के कारण वैश्विक बाजार में मिश्रित रुख रहा. हालांकि अमेरिकी फेडरल रिजर्व की बैठक के ब्यौरे में ब्याज दर बढ़ाने में आक्रामक नहीं होने का संकेत मिलने से निवेशकों को राहत मिली.

दवा, बैंकिंग, वित्तीय और धातु कंपनियों के शेयरों ने भी बाजार को बल दिया. इस बीच घरेलू संस्थागत निवेशकों ने कल 789.78 करोड़ रुपये की शुद्ध लिवाली की. हालांकि इस दौरान विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) 311.11 करोड़ रुपये के शुद्ध बिकवाल रहे थे.

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नैय्यर ने कहा, ‘‘कमजोर रुपये से निर्यात आधारित क्षेत्रों को लाभ होने से वैश्विक व्यापार की चिंताओं के बाद भी बाजार सुधरने में कामयाब रहा. इसके अलावा ब्याज दर पर फेडरल रिजर्व के नरम रहने के संकेत ने भी निवेशकों की धारणाएं मजबूत की.’’ 

भारतीय स्टेट बैंक लगातार तीसरे दिन बढ़त में रहा और इसके शेयर 2.01 प्रतिशत मजबूत हुए. एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, पंजाब नेशनी बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, कोटक बैंक, एचडीएफसी बैंक, इंडसइंड बैंक और फेडरल बैंक के शेयर 2.65 प्रतिशत तक चढ़े थे.

सेंसेक्स की कंपनियों में भारती एयरटेल सर्वाधिक 4.11 प्रतिशत मजबूत हुई.इसके बाद 3.09 प्रतिशत के साथ इंफोसिस का स्थान रहा. इनके अलावा टीसीएस 3.08 प्रतिशत, एक्सिस बैंक 2.65 प्रतिशत, सन फार्मा 2.23 प्रतिशत, भारतीय स्टेट बैंक 2.01 प्रतिशत, आईसीआईसीआई बैंक 190 प्रतिशत, टाटा स्टील 1.70 प्रतिशत, कोटक बैंक 1.57 प्रतिशत, महिंद्रा एंड महिंद्रा 1.49 प्रतिशत, एचडीएफसी लिमिटेड 1.24 प्रतिशत, डॉ रेड्डीज 1.20 प्रतिशत, एचडीएफसी बैंक 1.17 प्रतिशत, कोल इंडिया 1.12 प्रतिशत, एशियन पेंट्स 0.94 प्रतिशत, एलएंडटी 0.86 प्रतिशत, इंडसइंड बैंक 0.78 प्रतिशत, आईटीसी 0.49 प्रतिशत, रिलायंस इंडस्ट्रीज 0.42 प्रतिशत, विप्रो 0.36 प्रतिशत, पावरग्रिड 0.33 प्रतिशत और हीरो मोटोकॉर्प 0.12 प्रतिशत मजबूत हुए थे.

टिप्पणियां
टाटा मोटर्स सर्वाधिक 6.56 प्रतिशत नुकसान में रही. वेदांता में भी बिकवाली जारी रही. ऑयल इंडिया, ओएनजीसी, एचपीसीएल और बीपीसीएल के शेयर 6.83 प्रतिशत तक गिरे. बीएसई का मिडकैप और स्मॉलकैप क्रमश: 0.24 प्रतिशत और 0.14 प्रतिशत कमजोर हुए थे.

एशियाई बाजारों में हांग कांग का हैंग सेंग 0.31 प्रतिशत और सिंगापुर 0.93प्रतिशत मजबूती में रहे. हालांकि जापान का निक्की और चीन का शंघाई कंपोजिट क्रमश: 1.11 प्रतिशत और 0.45 प्रतिशत नरमी में रहे. यूरोपीय बाजारों में शुरुआती कारोबार में जर्मनी का फ्रैंकफर्ट डीएएक्स 0.06 प्रतिशत, फ्रांस का पेरिस सीएसी 0.42 प्रतिशत और लंदन का एफटीएसई 0.10 प्रतिशत मजबूत हुआ था.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement