NDTV Khabar

शेयर बाजार में सोमवार की तेजी थमी, सपाट खुले बाजार

संवेदी सूचकांक  सेंसेक्स सुबह 9.20 बजे 60 अंक नीचे 35104 पर कारोबार कर रहा था जबकि निफ्टी 20 अंक नीचे 10668 पर कारोबार कर रहा था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शेयर बाजार में सोमवार की तेजी थमी, सपाट खुले बाजार

शेयर बाजार.

मुंबई: देश के शेयर बाजार सोमवार की तेजी के बाद मंगलवार को सपाट ही खुले. लेकिन संवेदी सूचकांक  सेंसेक्स सुबह 9.20 बजे 60 अंक नीचे 35104 पर कारोबार कर रहा था जबकि निफ्टी 20 अंक नीचे 10668 पर कारोबार कर रहा था. देश के शेयर बाजारों के शुरुआती कारोबार में मंगलवार को गिरावट का रुख है. प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स सुबह 9.39 बजे 37.29 अंकों की गिरावट के साथ 35,128.19 पर और निफ्टी भी लगभग इसी समय 10.85 अंकों की कमजोरी के साथ 10,677.80 पर कारोबार करते देखे गए. 

बम्बई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 47.66 अंकों की मजबूती के साथ 35213.14 पर, जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 0.75 अंकों की बढ़त के साथ 10,689.40 पर खुला.

बता दें कि सोमवार को विश्व बाजार में कच्चे तेल के दाम में नरमी आने और डालर के मुकाबले रुपये में मजबूती से शेयर बाजार में कारोबारी धारणा में सुधार रहा. लगातार तीसरे दिन शेयर बाजार तेजी के साथ बंद हुये. बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 35,000 अंक के पार निकल गया जबकि एनएसई का निफ्टी सूचकांक 10,700 अंक के करीब पहुंच गया था. 

बंबई शेयर बाजार का संवेदी सूचकांक कारोबार की समाप्ति पर 240.61 अंक यानी 0.69 प्रतिशत उछलकर 35,165.48 अंक जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 83.50 अंक यानी 0.79 प्रतिशत बढ़कर 10,688.65 अंक पर बंद हुआ था. इससे पहले कारोबार के दौरान सेंसेक्स ऊंचे में 35,240.96 अंक और निफ्टी 10,709.80 अंक तक पहुंच गया था. 

सेंसेक्स को मजबूती देने वाले शेयरों में सन फार्मा, कोल इंडिया, लार्सन एण्ड टुब्रो, एशियन पेंट्स और स्टेट बैंक लाभ दर्ज करने वाले पांच प्रमुख शेयरों में शामिल रहे. यदि क्षेत्रवार बात की जाये तो आज औषधि, बैंक, आटो और एफएमसीजी कंपनियों में बढ़त रही थी. 

घरेलू संस्थागत निवेशकों की जोरदार लिवाली और खुदरा निवेशकों के सौदे बढ़ाने से बाजार में तेजी की धारणा बनी रही थी. वैश्विक बाजार से कच्चे तेल में नरमी के समाचार मिलने से कारोबारी धारणा बेहतर रही. अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क ब्रेंट क्रुड का दाम 1.88 प्रतिशत घटकर 75 डालर प्रति बैरल पर आ गया. उधर अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच शिखर बैठक के लिये तैयारियां शुरू होने से भू - राजनीतिक तनाव कम होने से राहत महसूस की गई. इसका भी बाजार पर सकारात्मक असर रहा था. 

सोमवार को कारोबार के दौरान बीच में रुपया एक समय 49 पैसे मजबूत होकर 67.29 रुपये प्रति डालर पर पहुंच गया. इससे भी कारोबारी धारणा में सुधार रहा. जियोजित फाइनेंसियल सविर्सिज लिमिटेड के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा , ‘‘ ओपेक देशों से आपूर्ति बढ़ने की उम्मीद में कच्चे तेल के दाम गिरने , अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच शिखर बैठक को लेकर तनाव कम होने से घरेलू मोर्चे पर 10 वर्ष का बॉड प्रतिफल कुछ नीचे आया जबकि रुपया मजबूत हुआ. इस स्थिति से मुद्रास्फीति और वित्तीय मोर्चे पर गुंजाइश बेहतर होगी. ’’ 

नायर ने कहा कि इसके अलावा दक्षिण पश्चिम मानसून के अगले एक - दो दिन में केरल पहुंचने के समाचार से भी धारणा बेहतर हुई है. मानसून यदि सामान्य रहता है तो देश में मांग और खपत दोनों बढ़ेंगे जिसका कारोबारी गतिविधियों पर सकारात्मक असर होगा. 

विश्व बाजार में कच्चे तेल के दाम 80.50 डालर से घटकर 75 डालर प्रति बैरल पर आने के समाचार से तेल एवं गैस कंपनियों -- एचपीसीएल , बीपीसीएल और आईओसी के शेयर मूल्य 6.10 प्रतिशत तक चढ़ गये. विमानन कंपनियों में स्पाइसजेट का शेयर 20 प्रतिशत , जेट एयरवेज 7.67 प्रतिशत , इंटरग्लोब एवियेशन में 2.38 प्रतिशत की तेजी दर्ज की गई थी. 

टिप्पणियां
सेंसेक्स में शामिल शेयरों में सन फार्मा सबसे अधिक 7.11 प्रतिशत चढ़ गया था. एनटीपीसी का शेयर 1.36 प्रतिशत बढ़ गया. एनटीपीसी के आज घोषित तिमाही परिणाम में कंपनी का एकल शुद्ध लाभ 40.69 प्रतिशत बढझ़कर 2,925.59 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. बढ़त वाले अन्य शेयरों में कोल इंडिया का शेयर 3.22 प्रतिशत , एल एण्ड टी का शेयर मूल्य 2.52 प्रतिशत , एशियन पेंट्स 2.31 प्रतिशत , स्टेटबैंक 1.97 प्रतिशत , मारुति सुजूकी 1.86 प्रतिशत , यस बैंक 1.52 प्रतिशत , एचडीएफसी बैंक 1.52 प्रतिशत , एक्सिस बैंक 1.49 प्रतिशत , टाटा स्टील 1.48 प्रतिशत , आईटीसी लि . 1.18 प्रतिशत चढ़ गये थे. 

हालांकि, प्रौद्योगिकी शेयरों में गिरावट रही. टीसीएस का शेयर 0.39 प्रतिशत , इन्फोसिस 1.16 प्रतिशत और विप्रो 0.60 प्रतिशत गिर गया. इन कंपनियों के निवेशकों में मजबूत होते रुपये को लेकर चिंता थी. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement