चार दिन की तेजी के बाद फिर गिरा सेंसेक्स

खास बातें

  • रिजर्व बैंक द्वारा मौद्रिक समीक्षा में ब्याज दरें बढ़ाए जाने की अटकलों के बीच बाजार में जारी तेजी का दौर थम गया और सेंसेक्स 62 अंक गिरकर बंद हुआ।
Mumbai:

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा आगामी मौद्रिक नीति समीक्षा में ब्याज दरें बढ़ाए जाने की अटकलों के बीच शेयर बाजार में चार दिन से जारी तेजी का दौर मंगलवार को थम गया और सेंसेक्स 62 अंक की गिरावट के साथ बंद हुआ। 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 62.33 अंक टूटकर 20,498.72 अंक पर बंद हुआ। इस दौरान ब्याज दर में घटबढ़ से प्रभावित होने वाले क्षेत्रों- बैंकिंग, रीयल्टी, टिकाऊ उपभोक्ता सामान और वाहन कंपनियों के शेयरों में मुनाफावसूली देखी गई। इसी तरह, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 11.25 अंक की गिरावट के साथ 6,146.35 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान एक समय यह 6,181.05 अंक के दिन के उच्च स्तर को छू गया था। बाजार विश्लेषकों ने कहा कि चालू खाते के घाटे में बढ़ोतरी और मुद्रास्फीति में वृद्धि के रुख को देखते हुए निवेशकों को आशंका है कि रिजर्व बैंक बढ़ती महंगाई पर काबू पाने के लिए ब्याज दरें बढ़ा सकता है। बैंकिंग शेयरों में आईसीआईसीआई बैंक 3.45 प्रतिशत, एसबीआई 3.09 प्रतिशत और एचडीएफसी बैंक 1.97 प्रतिशत टूटकर बंद हुआ। वाहन कंपनियों में बजाज ऑटो में दूसरे दिन भी गिरावट जारी रही और इसका शेयर 3.12 प्रतिशत टूटा। हालांकि बाजार में तेज गिरावट पर कुछ लगाम लगाने वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर 2.12 प्रतिशत मजबूत होकर बंद हुआ। आरआईएल के अलावा, हिंदुस्तान यूनिलीवर और आईटीसी ने बाजार को और लुढ़कने से बचाया। जहां हिंदुस्तान यूनिलीवर 2.54 प्रतिशत चढ़ा, वहीं आईटीसी में 1.78 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की गई। बेहतर तिमाही नतीजों की उम्मीद में लिवाली किए जाने से आईटी शेयर इंफोसिस एक प्रतिशत उछाल के साथ बंद हुआ। कंपनी 13 जनवरी को तीसरी तिमाही के नतीजे घोषित करेगी।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com