Vodafone Idea AGR मामले में सुधारात्मक याचिका दायर करने पर कर रही विचार

सुप्रीम कोर्ट ने AGR पर अपना फैसला देते हुए सरकार की परिभाषा को सही ठहराया था और दूरसंचार कंपनियों को 1.47 लाख करोड़ रुपये का पिछला बकाया चुकाने का निर्देश दिया था.

Vodafone Idea AGR मामले में सुधारात्मक याचिका दायर करने पर कर रही विचार

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  • AGR मामले में सुधारात्मक याचिका दायर करने पर विचार कर रही है
  • हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने इस संबंध में याचिका खारिज कर दी थी
  • कोर्ट ने AGR पर अपना फैसला देते हुए सरकार की परिभाषा को सही ठहराया
नई दिल्ली:

भारी कर्ज में डूबी दूरसंचार कंपनी वोडाफोन आइडिया समायोजित सकल आय (AGR) मामले में सुधारात्मक याचिका दायर करने समेत अन्य विकल्पों पर विचार कर रही है. कंपनी ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी. गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने इस संबंध में वोडाफोन आइडिया, भारती एयरटेल और अन्य दूरसंचार कंपनियों की पुनर्विचार याचिका को खारिज कर दिया है. इन कंपनियों ने शीर्ष अदालत से उसके AGR पर पहले दिए गए निर्णय के कुछ निर्देशों पर पुनर्विचार करने के लिए याचिका दायर की थी.

सुप्रीम कोर्ट ने AGR पर अपना फैसला देते हुए सरकार की परिभाषा को सही ठहराया था और दूरसंचार कंपनियों को 1.47 लाख करोड़ रुपये का पिछला बकाया चुकाने का निर्देश दिया था. शेयर बाजार को दी जानकारी में वोडाफोन आइडिया ने कहा, ‘माननीय सुप्रीम कोर्ट ने कंपनी और अन्य दूरसंचार कंपनियों की पुनर्विचार याचिका को खारिज कर दिया है. कंपनी सुधारात्मक याचिका समेत अन्य विकल्पों की भी तलाश कर रही है.'वोडाफोन आइडिया पर करीब 1.17 लाख करोड़ रुपये का भारी कर्ज बकाया है. इससे पहले कंपनी भारी वित्तीय दबाव के चलते कॉल और इंटरनेट दरों में इजाफा भी कर चुकी है.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com