NDTV Khabar

नोटबंदी के बाद अब निशाने पर हवाला कारोबार, दिल्‍ली समेत कई शहरों में इनकम टैक्स के छापे जारी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नोटबंदी के बाद अब निशाने पर हवाला कारोबार, दिल्‍ली समेत कई शहरों में इनकम टैक्स के छापे जारी
नई दिल्ली:

देश में काले धन पर अंकुश लगाने के मकसद से 500 रुपये और 1000 रुपये के नोट बंद करने के सरकार के फैसले के बाद दिल्ली सहित देश के कई राज्यों में इनकम टैक्स विभाग के छापे शुक्रवार को भी जारी हैं. आयकर विभाग ने दिल्ली के चांदनी चौक, मुंबई में तीन जगहों और चंडीगढ़, लुधियाना के साथ-साथ कई शहरों में अवैध तरीके से नोट बदलने और हवाला कारोबार के शक में छापे डाले हैं. दक्षिण भारत में भी दो शहरों में छापे मारे जाने की खबर है.

विभाग को सूचना मिली थी कि 500 और 1,000 का नोट बंद होने के बाद व्यापारियों द्वारा हटाई गई करेंसी को बदलने के लिए मुनाफा काटा जा रहा है और साथ ही कर चोरी की जा रही है.

दिलचस्प बात यह है कि यह छापेमारी गुरुवार शाम शुरू की गई, जो कि एक दिन बाद भी कई जगहों पर जारी है. टैक्स अधिकारी चाहते थे कि भुगतान काउंटरों पर कुछ नकदी एकत्रित हो जाए, तो उनकी कार्रवाई प्रभावी साबित हो सके.

अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रीय राजधानी में कम से कम चार स्‍थानों करोल बाग, दरीबा कलां और चांदनी चौक में छापेमारी की गई. मुंबई में तीन स्थानों पर छापा मारा गया. इसके अलावा चंडीगढ़ और लुधियाना में भी छापेमारी की गई. रिपोर्ट आने तक यह पता चला था कि आयकर विभाग ने दक्षिण भारत के दो शहरों में भी छापेमारी की कार्रवाई की है. इस बीच दिल्ली के चांदनी चौक में आयकर छापेमारी के डर से कई दुकाने बंद रही.


सूत्रों ने बताया कि विभाग को जानकारी मिली थी कि कुछ व्यापारी, ज्वेलर्स, करेंसी एक्‍सचेंज और हवाला कारोबारी हाल में ऊंचे मूल्य की मुद्रा पर रोक का फायदा उठाकर रियायती मूल्य पर नोट बदल रहे हैं.

टिप्पणियां

उन्होंने कहा कि केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के चेयरमैन सुशील चंद्रा ने सभी जांच एजेंसियों से कर चोरी रोकने के लिए भारी नकदी के संदिग्ध आवाजाही तथा अन्य गैरकानूनी लेनदेन पर निगाह रखने को कहा था, जिसके बाद इस कार्रवाई की योजना बनाई गई.

कई स्‍थानों पर कुछ दस्तावेज भी जब्त किए गए हैं. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को आश्वासन दिया कि कर अधिकारी उन लोगों को परेशान नहीं करेंगे जो छोटी मात्रा में 500 और 1,000 के नोट जमा करा रहे हैं. लेकिन बड़ी राशि जमा कराने वालों के खिलाफ कर कानून के तहत कार्रवाई होगी. (एजेंसी इनपुट के साथ)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement