NDTV Khabar

टीवीएस मोटर बढ़ाएगी उत्पादन क्षमता, 450 करोड़ रुपये निवेश का प्लान

टीवीएस मोटर्स के मुख्य वित्त अधिकारी और कार्यकारी उएपाध्यक्ष (वित्त) एस जी मुरली ने पीटीआई भाषा से कहा, ‘हमने चालू वित्त वर्ष के लिये 450 करोड़ रुपये के पूंजी व्यय का लक्ष्य रखा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
टीवीएस मोटर बढ़ाएगी उत्पादन क्षमता, 450 करोड़ रुपये निवेश का प्लान

टीवीएस मोटर कंपनी अपनी उत्पादन बढ़ाने की तैयारी में है.

नयी दिल्ली:

टीवीएस मोटर कंपनी ने उत्पादन क्षमता बढ़ाकर 45 लाख इकाई सालाना करने समेत विभिन्न गतिविधियों के लिये चालू वित्त वर्ष में 450 करोड़ रुपये पूंजी व्यय की योजना बनाई है. दो पहिया वाहन बनाने वाली कंपनी का मौजूदा वित्त वर्ष में अपने उत्पाद पोर्टफोलियो में नये उत्पाद जोड़ने का भी लक्ष्य है. टीवीएस मोटर्स के मुख्य वित्त अधिकारी और कार्यकारी उएपाध्यक्ष (वित्त) एस जी मुरली ने पीटीआई भाषा से कहा, ‘हमने चालू वित्त वर्ष के लिये 450 करोड़ रुपये के पूंजी व्यय का लक्ष्य रखा है. इसे मुख्य रूप से उत्पादन क्षमता बढ़ाने तथा शोध एवं विकास पर खर्च किया जाएगा.’ 

ये भी पढ़ें: TVS Victor और TVS Apache RTR 200 4V लॉन्च हुई

उन्होंने कहा कि कंपनी की देश में अपने तीनों संयंत्रों में सालाना उत्पादन क्षमता चालू वित्त वर्ष में मौजूदा 40 लाख इकाई से बढ़ाकर 45 लाख इकाई करने का लक्ष्य है. टीवीएस मोटर कंपनी के कारखाने कर्नाटक के मैसूर, तमिलनाडु के होसुर और हिमाचल प्रदेश के नालागढ़ में हैं.


ये भी पढ़ें: सुपरस्टार अमिताभ बच्चन बने TVS Jupiter के ब्रांड एंबेसडर

मैसूर संयंत्र की मौजूदा उत्पादन चमता 12 लाख इकाई सालाना है. वहीं होसुर की 21 लाख तथा नालागढ़ की स्थापित क्षमता छह लाख इकाई सालाना है.

नये उत्पाद पेश किये जाने के बारे में पूछे जाने पर मुरली ने कहा कि कंपनी की एक उत्पादन लाने की तैयारी है. हालांकि उन्होंने इसका नाम नहीं बताया.

देश में स्कूटर खंड में दूसरे स्थान पर आने वाली कंपनी को बेहतर मानसून से बिक्री बेहतर रहने की उम्मीद है.

टिप्पणियां

मुरली ने कहा, ‘हालांकि तमिलनाडु, केरल और कर्नाटक के विभिन्न भागों में बारिश कम हुई है लेकिन देश के अन्य हिस्सों में मानसून बेहतर रहा है. इससे ग्रामीण बाजार में बिक्री बढ़ेगी.’ कंपनी ने अप्रैल-जुलाई अवधि में घरेलू बाजार में 8,93,963 दो पहिया वाहन बेचे. यह पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के मुकाबले 9.26 प्रतिशत अधिक है.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement