NDTV Khabar

जीएसटी के तहत बैंकों को हर राज्य में कराना होगा अलग रजिस्ट्रेशन

बैंक पंजीकरण कराएं ताकि एक जुलाई से लागू होने वाले नए अप्रत्यक्ष कर के लिए तैयार हो सकें : राजस्व सचिव हसमुख अधिया

9 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
जीएसटी के तहत बैंकों को हर राज्य में कराना होगा अलग रजिस्ट्रेशन

राजस्व सचिव हसमुख अधिया ने कहा है कि जीएसटी के तहत बैंकों को हर राज्य में पृथक रजिस्ट्रेशन कराना होगा.

खास बातें

  1. वित्तमंत्री जेटली और मंत्रालय के अफसरों के साथ बैंक प्रमुखों की बैठक
  2. बैंक नहीं कह सकते कि वे जीएसटी के लिए तैयार नहीं
  3. परेशानियों को कम करने की कोशिश करेगी सरकार
नई दिल्ली: अब बैंकों को जीएसटी के अंतर्गत देश के प्रत्येक राज्य में अलग-अलग रजिस्ट्रेशन कराना पड़ेगा. सरकार के इस फरमान से बैंक इनकार नहीं कर सकते. बैंकों को एक जुलाई से लागू होने वाली नई व्यवस्था के लिए खुद को तैयार करना ही होगा. केंद्र सरकार ने बैंकों को यह संकेत दे दिए हैं.

राजस्व सचिव हसमुख अधिया ने सोमवार को कहा कि जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) कानून के तहत बैंकों को हर राज्य में अलग-अलग पंजीकरण कराना होगा, ताकि वे एक जुलाई से लागू होने वाले नए अप्रत्यक्ष कर के लिए तैयार हो सकें. अधिया ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के प्रमुखों के साथ एक बैठक की.

टिप्पणियां
अधिया ने बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा, "जीएसटी के अंतर्गत बैंकों को हर राज्य में अलग-अलग पंजीकरण कराना होगा. उनके पास दूसरा विकल्प नहीं है. जीएसटी के अंतर्गत यही कानून है. हम इसमें होने वाली परेशानियों को कम करने की कोशिश करेंगे." अधिया ने कहा कि "बैंकों को जीएसटी के लिए तैयार होना होगा. वे ऐसा नहीं कह सकते कि तैयार नहीं हैं."

वित्तमंत्री अरुण जेटली और मंत्रालय के अन्य अधिकारियों के साथ दिन भर चली इस समीक्षा बैठक में बैंकों के फंसे हुए कर्जों और जीएसटी की तैयारियों को लेकर भी चर्चा की गई.
(इनपुट आईएएनएस से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement