NDTV Khabar

विजय माल्‍या ने बताई किंगफिशर एयरलाइंस के बंद होने की एक 'बड़ी वजह'... किए ट्वीट

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
विजय माल्‍या ने बताई किंगफिशर एयरलाइंस के बंद होने की एक 'बड़ी वजह'... किए ट्वीट

विजय माल्‍या ने दो सिलसिलेवार ट्वीट कर यह बात कही...

नई दिल्‍ली: कर्ज अदायगी में चूक और अन्य वित्तीय अनियमितताओं का सामना कर रहे भगोड़े उद्योगपति विजय माल्या ने कहा है कि किंगफिशर एयरलाइंस के विमानों के खराब इंजन उसके बंद होने की एक प्रमुख वजह थी. उन्‍होंने शुक्रवार को दो सिलसिलेवार ट्वीट कर यह बात कही. विजय माल्‍या भारत छोड़कर लंबे समय से लंदन में रह रहे हैं. दरअसल, विमानन नियामक 'नागर विमानन महानिदेशालय' (डीजीसीए) ने भारत में परिचालन में प्रयुक्त कुछ एयरबस 320 नियो विमानों में पीएंडडब्ल्यू के इंजनों की विस्तृत जांच के आदेश दिए हैं. डीजीसीए ने ऐसे इंजन वाले 21 विमानों 320 एयर बसों की जांच के विस्तृत जांच के आदेश दिए हैं. ये विमान और एयरबस इंडिगो और गो एयर कंपनी में सेवाएं दे रहे हैं.

विजय माल्‍या ने किए ये ट्वीट...

विजय माल्‍या द्वारा किए गए पहले ट्वीट में कहा गया कि, ''आश्‍चर्यचकित नहीं हूं कि डीजीसीए ने प्रैट एंड विह्टनी एयरक्राफ्ट इंजनों की जांच के आदेश दिए हैं. किंगफिशर एयरलाइंस भी दुर्भाग्य से खराब इंजनों की वजह से बंद हो गई.''
 
उन्‍होंने दूसरे ट्वीट में कहा कि ''हमने पीएंडडब्ल्यू समूह की आईएई पर मामला दर्ज कराया है. यह मामला किंगफिशर को खराब इंजनों की आपूर्ति करने के एवज में मुआवजा पाने के लिए दायर किया गया है''.
 
उल्‍लेखनीय है कि डीजीसीए ने एयरबस 320 के 21 नए विमानों में लगे पी एंड डब्‍ल्‍यू इंजन की विस्‍तृत जांच के आदेश दिए हैं. इन विमानों को इंडिगो और गोएयर भी इस्‍तेमाल कर रही है. इन इंजनों में तकनीकी गड़बड़ियां सामने आई हैं.

टिप्पणियां
नागर विमानन महानिदेशालय ने हाल की घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए दोनों विमानन कंपनियों से जांच करने को कहा है. इंजन संबंधी मुद्दों के कारण इंडिगो और गो एयर की उड़ानों को आपात स्थिति में उतरना पड़ा है. डीजीसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कुल 21 ए 320 विमानों में पी एंड डब्‍ल्‍यू इंजन का उपयोग किया गया. इन विमानों की जांच की जाएगी और पूरा अभियान अगले दो सप्ताह में पूरा हो जाने की संभावना है.

आपके बता दें कि भारत ने बीते माह ही माल्या के प्रत्यर्पण के लिए ब्रिटेन को आग्रह पत्र सौंपा है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने जानकारी देते हुए कहा था कि 'हमने विजय माल्या के प्रत्यर्पण का आग्रह ब्रिटेन के उच्चायोग को सौंपा, जो हमें सीबीआई से प्राप्त हुआ था. हमने ब्रिटेन से आग्रह किया है कि भारत में सुनवाई का सामना करने के लिए उनका प्रत्यर्पण करें'. उन्होंने कहा कि माल्या के खिलाफ भारत का 'वैध' मामला है और अगर प्रत्यर्पण आग्रह का सम्मान किया जाता है तो यह 'हमारी चिंताओं के प्रति उनकी संवेदनशीलता' को दर्शाएगा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement