NDTV Khabar

पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों से जल्द नहीं मिलेगी राहत, केंद्रीय मंत्री ने दिया यह बयान

सोमवार को राजधानी दिल्ली में पेट्रोल का दाम सोमवार को लगातार पांचवें दिन बढ़ते हुए 74.50 रुपये प्रति लीटर हो गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों से जल्द नहीं मिलेगी राहत, केंद्रीय मंत्री ने दिया यह बयान

केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु.

खास बातें

  1. केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु ने बढ़ती तेल कीमतों पर कहा
  2. साफ है सरकार इसमें दखल देने को तैयार नहीं
  3. ई-कॉमर्स पॉलिसी पर भी बोले प्रभु
नई दिल्ली: देश में बढ़ती पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि हमें इसे काबू में करने के लिए इसकी खपत कम करनी चाहिए क्योंकि हमें बाजार की ताकतों के हिसाब से अपने को तैयार करना होगा. बता दें कि अंतरराष्ट्रीय कारणों से वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल के दाम में कमी आने के बाद भी देश में पेट्रोल का दाम बढ़ना जारी है. सोमवार को राजधानी दिल्ली में पेट्रोल का दाम सोमवार को लगातार पांचवें दिन बढ़ते हुए 74.50 रुपये प्रति लीटर हो गया. अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोमवार को कच्चे तेल का भाव टूटने से घरेलू वायदा बाजार में ऊंचे स्तर से कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई. वहीं केंद्रीय मंत्री के इस बयान से साफ है कि सरकार कीमतों को काबू करने के लिए कोई कदम उठाने नहीं जा  रही है.

देश में बढ़ते ई-कॉमर्स व्यापार पर बोलते हुए सुरेश प्रभु ने कहा कि घरेलू बाजार में यह तेजी से बढ़ेगा और हम इसे बढ़ाने का प्रयास कर रहे हैं. कंज्यूमर के अधिकारों को ध्यान में रखते हुए हमें जल्द इस पर कोई नीति बनानी होगी. हमारे पास मौका है कि भारतीय ई-कॉमर्स कंपनियां ग्लोबल प्लेयर बन सकें.

यह भी पढ़ें : सस्‍ता नहीं होगा पेट्रोल-डीजल, ये है वजह

प्रभु ने कहा कि फील्ड से जुड़े सभी कंपनियों से लगातार यह कहा गया है कि वे अपने सुझावों के साथ आएं. नियम इस प्रकार के नहीं होने चाहिए जिससे इंडस्ट्री को काम करने में दिक्कत आए. नियम मजबूत भी हों और लचीले भी. प्रभु ने कहा कि नियमों को भविष्य के हिसाब से तैयार किया जाना चाहिए और तकनीक पर विशेष बल दिया जाना चाहिये.केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कोई भी कानून बनाने से पहले कंज्यूमर से भी सलाह ली जाएगी.

यह भी पढ़ें : महंगे पेट्रोल डीजल से फिलहाल नहीं मिलेगी राहत, केंद्र सरकार नहीं घटाएगी उत्पाद शुल्क

इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) की वेबसाइट के मुताबिक, राष्ट्रीय राजधानी में पेट्रोल 74.50 रुपये प्रति लीटर बिका, जबकि रविवार को यह 74.40 रुपये प्रति लीटर था. दिल्ली में पेट्रोल का भाव करीब पांच साल के सबसे ऊंचे स्तर पर बना हुआ है. इससे पहले 14 सितंबर को पेट्रोल का दाम राजधानी में 76.06 रुपये प्रति लीटर हो गया था.

कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में भी पेट्रोल की कीमतें नई ऊंचाइयों पर पहुंच गई हैं. कोलकाता में सोमवार को पेट्रोल 77.20 रुपये प्रति लीटर, मुंबई में 82.35 रुपये प्रति लीटर और चेन्नई में 77.29 रुपये प्रति लीटर बिका.

टिप्पणियां
VIDEO : सिंपल समाचार : पेट्रोल की पोल खोल


पेट्रोल के साथ-साथ डीजल के दाम में भी बढ़ोतरी दर्ज की गई. दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में डीजल की कीमतें क्रमश: 65.75 रुपये प्रति लीटर, 68.45 रुपये प्रति लीटर, 71.01 रुपये प्रति लीटर और 69.37 रुपये प्रति लीटर रहीं. मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (एमसीएक्स) पर कच्चे तेल का मई वायदा सोमवार को 4,547 रुपये प्रति बैरल की ऊंचाई छूने के बाद फिसला और शाम आठ बजे के कारोबार के दौरान 26 रुपये लुढ़ककर 4,505 रुपये प्रति बैरल पर बना हुआ था.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement