NDTV Khabar

नोटबंदी के अस्थायी प्रतिकूल प्रभावों से उबर रहा है भारत, विश्व बैंक का अनुमान- अबकी जीडीपी रहेगी 7.2%

विश्व बैंक का कहना है कि भारत नोटबंदी के अस्थायी प्रतिकूल प्रभाव से अब उबर रहा है. विश्व बैंक का अनुमान है कि 2017 में भारत की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर 7.2 प्रतिशत रहेगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नोटबंदी के अस्थायी प्रतिकूल प्रभावों से उबर रहा है भारत, विश्व बैंक का अनुमान- अबकी जीडीपी रहेगी 7.2%

नोटबंदी के अस्थायी प्रतिकूल प्रभावों से उबर रहा है भारत, विश्व बैंक ने कहा है- अबकी जीडीपी रहेगी 7.2%- File Photo

खास बातें

  1. विश्व बैंक का कहना है कि 2017 में भारत की जीडीपी वृद्धि दर 7.2 रहेगी
  2. जनवरी के अनुमान की तुलना में वृद्धि दर आंकड़ों को संशोधित किया गया है
  3. चीन की वृद्धि दर के 2017 के अनुमान को 6.5 प्रतिशत पर कायम रखा है
वॉशिंगटन: विश्व बैंक का कहना है कि भारत नोटबंदी के अस्थायी प्रतिकूल प्रभाव से अब उबर रहा है. विश्व बैंक का अनुमान है कि 2017 में भारत की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर 7.2 प्रतिशत रहेगी, जो 2016 में 6.8 प्रतिशत रही थी.

विश्व बैंक ने अपने जनवरी के अनुमान की तुलना में भारत की वृद्धि दर के आंकड़ों को 0.4 प्रतिशत संशोधित किया है. वहीं भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था बना हुआ है.

टिप्पणियां
विश्व बैंक के अधिकारियों के अनुसार चीन की वृद्धि दर के 2017 के अनुमान को 6.5 प्रतिशत पर कायम रखा गया है. वहीं 2018 और 2019 में चीन की वृद्धि दर 6.3 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया गया है.

विश्व बैंक ने अपनी ताजा वैश्विक आर्थिक संभावनाओं में 2018 में भारत की वृद्धि दर 7.5 प्रतिशत और 2019 में 7.7 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया है. जनवरी, 2017 के अनुमान की तुलना में 2018 में भारत की वृद्धि दर के अनुमान में 0.3 प्रतिशत तथा 2019 में 0.1 प्रतिशत की कमी की गई है. विश्व बैंक ने कहा है कि भारत की वृद्धि दर के अनुमान में कमी मुख्य रूप से निजी निवेश में उम्मीद से कुछ नरम सुधार है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement