NDTV Khabar

माउंट किलिमंजारो पर चढ़ाई करेंगी 7 भारतीय लड़कियां

देश की 7 लड़कियां अफ्रिका की सबसे ऊंची पहाड़ी माउंट किलिमंजारो पर चढ़ाई करेंगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
माउंट किलिमंजारो पर चढ़ाई करेंगी 7 भारतीय लड़कियां

सभी लड़कियों की आयु 15 से 18 वर्ष के बीच है.

नई दिल्ली:
टिप्पणियां

हिमाचल प्रदेश के सनावर के लॉरेंस स्कूल में पढ़ाई कर रहीं सात भारतीय लड़कियां अफ्रिका की सबसे ऊंची पहाड़ी माउंट किलिमंजारो पर चढ़ाई करेंगी. स्कूल ने गुरुवार को इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि समुद्री तल से माउंट किलिमंजारो की ऊंचाई 5,898 मीटर है. सभी लड़कियों की आयु 15 से 18 वर्ष के बीच है, जिन्हें शारीरिक, मानसिक जैसी कई कसौटियों पर परखने के बाद चुना गया है. स्कुल के अनुसार, चयनित लड़कियों को इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए फरवरी में कठोर प्रारंभिक प्रशिक्षण से गुजरना पड़ा. 

प्रशिक्षण के भाग के अनुसार, उन्हें उत्तराखंड के ऋषिकेश और लद्दाख में दो शिविरों में भाग लेना पड़ा. माउंट किलिमंजारो विश्व की सबसे ऊंची फ्री स्टेंडिंग माउंटेन है और इस पर चढ़ाई करने में पांच से नौ दिन लगते हैं. यह निर्भर करता है कि चढ़ने के लिए कौन सा मार्ग चुना है. ग्लोबल बाइसाइकिल प्रमुख हीरो साइकिल ने इस पर्वतीय अभियान का सह-प्रायोजन कर रही है. 

छात्रों में इश्मप्रीत कौर, रोशनी, अवंती अग्रवाल, मिहिका गोयल, अनन्या पंचर, मेगन भागीरत और कशिश पठानिया शामिल हैं. 11 दिवसीय अभियान का नेतृत्व प्रसिद्ध पर्वतारोही अजीत बजाज कर रहे हैं. वहीं प्रिया ढिल्लन ग्रुप इंचार्ज हैं. मई 2018 में, बजाज ने अपनी बेटी के साथ माउंट एवरेस्ट पर एक अभियान पूरा किया और बाद में इसी वर्ष सफलतापूर्वक अंटार्कटिका की सबसे ऊंची चोटी पर पहुंच गए.

अन्य खबरें
IPS अधिकारी अपर्णा कुमार ने उत्तरी अमेरिका की सबसे ऊंची चोटी माउंट देनाली पर तिरंगा फहराकर रचा इतिहास
माउंट एवरेस्ट पर मिला 11 टन कचरा, करोड़ों में साफ की जा रही है दुनिया के सबसे ऊंची चोटी



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement