Coronavirus: दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला, नर्सरी से 8वीं तक स्टूडेंट्स को बिना एग्जाम दिए करेंगे पास

Coronavirus: कोरोनावायरस के चलते दिल्ली सरकार ने नर्सरी से 8वीं क्लास के स्टूडेंट्स को पास करने का फैसला किया है.

Coronavirus: दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला, नर्सरी से 8वीं तक स्टूडेंट्स को बिना एग्जाम दिए करेंगे पास

नर्सरी से 8वीं तक सभी स्टूडेंट्स को पास किया जाएगा.

खास बातें

  • दिल्ली सरकार ने स्टूडेंट्स के हित में बड़ा फैसला लिया है.
  • नर्सरी से 8वीं तक सभी स्टूडेंट्स को पास किया जाएगा.
  • 12वीं और 10वीं के स्टूडेंट्स के लिए ऑनलाइन क्लास शुरू की जाएगी.
नई दिल्ली:

Coronavirus: कोरोनावायरस के चलते देश में हालात गंभीर बने हुए हैं. कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ रही है. कोरोना के खतरे के मद्देजनर एजुकेशन सेक्टर पर भी ब्रेक लग गया है. कोरोना के डर से अधिकतर परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं. अब इसी बीच दिल्ली सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि दिल्ली में नर्सरी क्लास से 8वीं क्लास तक सभी स्टूडेंट्स बिना एग्जाम दिए ही पास किए जाएंगे.

मनीष सिसोदिया ने बताया कि पूर्वी दिल्ली में दंगों की वजह से 8वीं क्लास तक के स्टूडेंट्स के एग्जाम हो नहीं पाए थे और बाद में कोरोनावायरस की वजह से एग्जाम रोकने पड़े. लेकिन अब सभी स्टूडेंट्स को पास किया जाएगा. इसके अलावा 9वीं और 11वीं क्लास के स्टूडेंट्स को पास करने का फैसला सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) से बात-चीत करने के बाद ही लिया जाएगा.

शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने यह भी कहा कि 12वीं क्लास में जो स्टूडेंट्स पहुंचने वाले हैं उनके लिए 2 सब्जेक्ट्स की ऑनलाइन क्लासेस शुरू की जाएंगी. 12वीं क्लास के लिए ऑनलाइन क्लासेस अप्रैल के पहले हफ्ते से शुरू हो जाएंगी और इसके कुछ समय बाद 10वीं क्लास के स्टूडेंट्स के लिए भी ऑनलाइन क्लासेस शुरू की जाएंगी. 

मनीष सिसोदिया ने यह भी कहा कि अब से स्टूडेंट्स को रोजाना SMS और IVR के जरिए एक एक्टिविटी दी जाएगी और उन्हें हर एक्टिविटी की डिटेल एक प्रोजेक्ट के तौर पर नोटबुक में लिखनी होगी. स्कूल जब खुलेंगे तो टीचर्स स्टूडेंट्स की एक्टिविटी चेक करके उन्हें उसके आधार पर नंबर्स देंगे. 

मनीष सिसोदिया ने बताया, "छात्रों को एसएमएस या आईवीआर के जरिए काम दिया जाएगा जिसे उन्हें करना होगा और साथ ही नोटबुक भी बनानी होंगी. स्कूल खुलने पर छात्रों के मूल्यांकन में इन कामों या गतिविधियों को जांचा जाएगा."
उन्होंने बताया कि इन कक्षाओं के टीचर फोन के जरिए छात्रों के संपर्क में रहेंगे_ 

उन्होंने बताया कि 12वीं कक्षा के छात्रों के लिए ऑनलाइन कक्षाएं एक अप्रैल से शुरू होंगी और छात्रों को इंटरनेट डाटा पैक खरीदने के लिए धन दिया जाएगा.

सिसोदिया ने बताया, "हर रोज, दो विषय पढ़ाए जाएंगे. छात्रों को एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर रजिस्‍ट्रेशन कराने की जरूरत होगी जिसका लिंक उन्हें दिया जाएगा. डाटा पैक खरीदने के लिए हम छात्रों को धनराशि देंगे."

उन्होंने कहा, "अगर जरूरत हुई तो हम टीवी चैनलों के जरिए भी इन कक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं."

शिक्षा मंत्री ने बताया कि 10वीं कक्षा के लिए ऑनलाइन कक्षाएं बाद में शुरू की जाएंगी. उन्होंने कहा कि सरकार सीबीएसई से सलाह मशविरा कर रही है कि नौंवीं के छात्रों के लिए इस प्रकार की कक्षाएं किस प्रकार शुरू की जा सकती हैं.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com