AMU के प्रोफेसर असदउल्‍लाह खान को जैव प्रौद्योगिकी में अनुसंधान के लिए किया गया सम्मानित

यह पुरस्कार इससे पहले एपीजे अब्दुल कलाम, एमएस स्वामीनाथन और केजी मेनन सहित प्रसिद्ध भारतीय वैज्ञानिकों को दिया जा चुका है और अब प्रोफेसर असद एएमयू संकाय के पहले ऐसे सदस्य बन गए हैं, जिन्हें इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया है.

AMU के प्रोफेसर असदउल्‍लाह खान को जैव प्रौद्योगिकी में अनुसंधान के लिए किया गया सम्मानित

प्रोफेसर असद को श्री ओम प्रकाश भसीन पुरस्कार 2019 से सम्मानित किया जाएगा.

अलीगढ़:

Asad Ullah Khan: प्रसिद्ध बायोटेक्नोलॉजिस्ट और विद्वान, प्रोफेसर असदउल्‍लाह खान (अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के जैव प्रौद्योगिकी इकाई के समन्वयक) को बायोटेक्नोलॉजी में किए गए अनुसंधान के लिए श्री ओम प्रकाश भसीन पुरस्कार 2019 से सम्मानित करने के लिए चुना गया है. 

यह पुरस्कार, देश भर के उच्च सम्मानों में से एक माना जाता है और कृषि विज्ञान, जैव प्रौद्योगिकी, इलेक्ट्रॉनिक्स, इंजीनियरिंग और चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में प्रतिष्ठित वैज्ञानिकों को दिया जाता है. इस पुरस्कार के साथ एक लाख रुपये का नकद ईनाम भी दिया जाता है. 

यह पुरस्कार इससे पहले एपीजे अब्दुल कलाम, एमएस स्वामीनाथन और केजी मेनन सहित प्रसिद्ध भारतीय वैज्ञानिकों को दिया जा चुका है और अब प्रोफेसर असद एएमयू संकाय के पहले ऐसे सदस्य बन गए हैं, जिन्हें इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया है.

एएमयू के पूर्व छात्र प्रोफेसर ओबैद सिद्दीकी को 1993 में यह सम्मान मिला था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर ने इस अकादमिक सम्मान पर प्रोफेसर खान को बधाई दी है और कहा है कि 'यह जीवाणुरोधी प्रतिरोध और जीवाणुओं के संक्रमण जीव विज्ञान के अध्ययन के लिए उनके मौलिक योगदान पर दिया गया है.'

एएमयू के एक बयान में कहा गया है कि यह पुरस्कार नवंबर 2020 के पहले सप्ताह के दौरान दिया जाएगा.