UPSC इंटरव्यू में पूछा गया था ISIS से जुड़ा सवाल, टॉपर ने ऐसे दिया जवाब

अनु से IAS इंटरव्यू में कई प्रकार सवाल पूछे गए. लेकिन उन्होंने एक सवाल के बारे में बताया. उन्होंने कहा कि मुझसे इराक में 40 भारतीयों की मौत पर सवाल पूछा गया, जिन्हें ISIS ने मार दिया था. पूछा गया कि सरकार ने इस सिचुएशन को जैसे हैंडल किया. क्या आप सहमत हैं?

UPSC इंटरव्यू में पूछा गया था ISIS से जुड़ा सवाल, टॉपर ने ऐसे दिया जवाब

नई दिल्ली:

हरियाणा की अनु कुमारी ने यूपीएससी एग्ज़ाम (UPSC Exam) में  साल 2018 में दूसरी रैंक हासिल की थी.  यह उनका चौथा अटेम्प्ड था, इससे पहले यूपीएससी की परीक्षा में अनु सिर्फ कुछ ही नंबर से रैंक नहीं कर पाई थीं. लेकिन 2018 में हरियाणा की इस बहू ने कमाल कर दिखाया है. आपको बता दें अनु ने जब परीक्षा दी थी उनके बेटे की उम्र 4 साल थी. ऐसे में उन्होंने  बेटे से दूर रहकर परीक्षा की तैयारी की. आज हम आपको बताने जा रहे हैं कैसे उन्होंने परीक्षा की तैयारी की और यूपीएससी इंटरव्यू में उन्होंने किस सवाल के जवाब से क्लियर किया इंटरव्यू.

कैसे करती थी तैयारी

अनु कुमारी ने  NDTV को बताया कि वह अपनी पारिवारिक जिम्मेदारियों के निभाने के साथ-साथ हर दिन कम से कम 10 से 12 घंटे पढ़ाई करती थीं. तैयारी के समय वह जिस गांव में रह रही थीं वहां अखबार तक नहीं आता था. लिहाजा उन्होंने अपनी तैयारी को बेहतर से बेहतर करने के लिए ऑनलाइन कंटेंट रीडिंग का सहारा लिया.

 इतना मुश्किल था यूपीएससी का सफर

अनु ने अपनी तैयारी के दौरान जैसे अपनी ममता को लॉकर में बंद कर दिया था. तैयारी के दौरान उनका ध्यान न भटके, इसलिए उन्होंने अपने चार साल के बेटे से वीडियो चैट करना बंद कर दिया था. दिल्ली यूनिवर्सिटी के बेहद प्रतिष्ठित हिन्दू कॉलेज से फिजिक्स में ग्रेजुएशन करने के बाद उन्होंने MBA भी किया और फिर आठ साल नौकरी की, लेकिन फिर दिल में सिविल सर्विसेज में जाने का सपना आया और वो सब कुछ छोड़छाड़ कर अपनी मौसी के गांव चली गईं, जहां अख़बार भी नहीं आता था, पर इंटरनेट उनके लिए लाइफ लाइन थी. अनु को बचपन से पढ़ाई का बेहद शौक था और एक दिलचस्प किस्सा बताया था कि कैसे एक बार स्कूल के दिनों में एक बार वो पढ़ने में इस तरह खो गईं कि दीये से उनके बाल में आग लग गईं. सिविल सेवा में जाकर वो महिलाओं और पिछड़ों की आवाज़ बनना चाहती हैं.

इंटरव्यू में दिया इस सवाल का जवाब

आमतौर पर यूपीएससी की परीक्षा में इंटरव्यू सबसे मुश्किल माना जाता है. लेकिन इस परीक्षा में दूसरा स्थान हासिल करने वाली अनु कुमारी को ऐसा नहीं लगता.  उन्होंने बताया कि कैसे सही तैयारी के साथ आप ये इंटरव्यू क्लियर कर सकते हैं.

यूपीएससी के प्रिलिम्स और मेंस पास करने के बाद ज्यादातर उम्मीदवार इंटरव्यू से बाहर हो जाते हैं. अनु ने बताया इंटरव्यू से बिल्कुल भी डर नहीं लगा था, क्योंकि मेरी कॉरपोरेट प्रोफाइल की वजह से मुझे इंटरव्यू देने की आदत थी.

उन्होंने कहा कि इंटरव्यू की तैयारी के लिए उन्होंने कई मॉक टेस्ट दिए थे. मॉक टेस्ट देने से आपको सवालों की वैरायटी मिल जाती है. आपको पता चल जाता है कि किस सवाल का जवाब कैसे देना है. साथ ही जो सवाल नहीं आता उसका जवाब 'ना' में कैसे देना है.

अनु से IAS इंटरव्यू में कई  प्रकार सवाल पूछे गए. लेकिन उन्होंने एक सवाल के बारे में बताया. उन्होंने कहा कि मुझसे इराक में 40 भारतीयों की मौत पर सवाल पूछा गया, जिन्हें ISIS ने मार दिया था. पूछा गया कि सरकार ने इस सिचुएशन को जैसे हैंडल किया. क्या आप सहमत हैं?


इस पर अनु ने स्पष्टता से जवाब देते हुए कहा  था कि 'सरकार ने काफी कोशिश की थी सभी भारतीयों को जिंदा वापस देश में लाया जा सके. इस सिचुएशन में गलत ये रहा कि भारतीयों की मौत के बारे में उनके परिवार वालों को काफी गलत तरीके से सूचित किया गया. परिवार को संसद की कार्यवाही के दौरान उनके परिजनों की मौत के बारे में मालूम चला. अनु ने बताया कि किसी की मौत के बारे में सरकार का इस तरह से सूचित करने का फैसला गलत था. जिससे मैं सहमत नहीं हूं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com