NDTV Khabar

Bal Gangadhar Tilak: 'स्वराज मेरा जन्म सिद्ध अधिकार है, हम इसे लेकर रहेंगे', जानिए बाल गंगाधर तिलक के विचार

बाल गंगाधर तिलक (Bal Gangadhar Tilak) की आज जयंती है.तिलक देश के पहले ऐसे स्वतंत्रता सेनानी रहे, जिन्होंने 'पूर्ण स्वराज' की मांग कर अंग्रेजों के मन में खौफ पैदा कर दिया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Bal Gangadhar Tilak: 'स्वराज मेरा जन्म सिद्ध अधिकार है, हम इसे लेकर रहेंगे', जानिए बाल गंगाधर तिलक के विचार

बाल गंगाधर तिलक

नई दिल्ली:

लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक की आज जयंती (Bal Gangadhar Tilak Jayanti)  है. बाल गंगाधर तिलक का जन्म 23 जुलाई 1856 को हुआ था. तिलक देश के पहले ऐसे स्वतंत्रता सेनानी रहे, जिन्होंने 'पूर्ण स्वराज' की मांग कर अंग्रेजों के मन में खौफ पैदा कर दिया था. अंग्रेजों का विरोध करने पर कई बार उनको जेल भी जाना पड़ा और उनके ऊपर राजद्रोह का मुकदमा चलाया गया. 1897-98 के दौरान 18 महीने तक वह जेल में रहे. 1908-1914 तक फिर उनको मंडाले की जेल में भेजा गया. यहां तिलक 6 साल तक जेल में रहे और दुनिया से उनका कोई संपर्क नहीं रहा. बाल गंगाधर तिलक ने जेल में  'गीता रहस्य' नाम की पुस्तक लिखी थी. भले ही तिलक आजाद भारत में सांस लिए बगैर इस दुनिया से चले गए, लेकिन उनकी कही बातें आज भी सामाजिक एकता कायम करने में कारगर हो सकती है. 

बाल गंगाधर के विचार (Bal Gangadhar Tilak Qoutes)
1. 'स्वराज मेरा जन्म सिद्ध अधिकार है, हम इसे लेकर रहेंगे.'


2. 'धर्म और व्यावहारिक जीवन अलग नहीं हैं. संन्‍यास लेना जीवन का परित्याग करना नहीं है. असली भावना सिर्फ अपने लिए काम करने की बजाए देश को अपना परिवार बना मिलजुल कर काम करना है.'

3. 'प्रगति स्वतंत्रता में निहित है. बिना स्वशासन के न औद्योगिक विकास संभव है, न ही राष्ट्र के लिए शैक्षिक योजनाओं की कोई उपयोगिता है. देश की स्वतंत्रता के लिए प्रयत्न करना सामाजिक सुधारों से अधिक महत्वपूर्ण है.'

4. 'भूविज्ञानी पृथ्वी का इतिहास वहां से उठाते हैं जहां से पुरातत्वविद् इसे छोड़ देते हैं, और उसे और भी पुरातनता में ले जाते हैं.'

Chandra Shekhar Azad: 'मेरा नाम आजाद, मेरे पिता का नाम स्वतंत्रता और मेरा घर जेल है', जानिए चंद्रशेखर आजाद के क्रांतिकारी विचार

टिप्पणियां

5. 'ये सच है कि बारिश की कमी के कारण अकाल पड़ता है लेकिन ये भी सच है कि भारत के लोगों में इस बुराई से लड़ने की शक्ति नहीं है.'

6. 'यदि भगवान छुआछूत को मानता है तो मैं उसे भगवान नहीं कहूंगा.'



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement