भारत के इस शहर में डाटा-एंट्री एग्जीक्यूटिव से ज्यादा कमाता है वॉचमैन

भारत के इस शहर में डाटा-एंट्री एग्जीक्यूटिव से ज्यादा कमाता है वॉचमैन

भारत की आईटी राजधानी कहलाने वाले बेंगलुरु में एक चौकीदार यानी वॉचमैन डेटा-एंट्री करने वाले पेशेवरों से ज्यादा कमाई करते हैं। जहां एक वॉचमैन का औसत मासिक वेतन 10,152 रुपये है, वहीं डाटा-एंट्री प्रोफेशनल का औसत मासिक वेतन 10,141 रुपये है। यह जानकारी जॉब पोर्टल बाबाजॉब्स डॉट कॉम की ओर से जुटाई गई है। देश के कई शहरों में इंफोर्मल सेक्टर में मिलने वाले वेतन पर जुटाई गई जानकारी में कई चौंकाने वाली बातें सामने आई हैं। 

बाबजॉब्स डॉट कॉम बेंगलुरु स्थित एक जॉब पोर्टल है जो इंफोर्मल सेक्टर में नौकरी तलाशने वालों और 40,000 के वेतन से कम के स्तर की पेशेवर नौकरी ढूंढने वालों की काम पाने में मदद करता है। 

बाबजॉब्स के को-फाउंडर और सीईओ वीर कश्यप का मामना है कि वेतन में यह अंतर मांग और आपूर्ति की स्थिति के कारण हैं। यानी बेंगलुरु में वॉचमैन की नौकरी से अधिक लोग डाटा-एंट्री के काम में जाना चाहते हैं। 

Newsbeep

दिल्ली और मुंबई में एक ड्राइवर डाटा-एंट्री एक्सिक्युटिव से अधिक कमाता है। मुंबई में जहां एक ड्राइवर का औसत मासिक वेतन 13,289 रुपये है, वहीं डाटा-एंट्री प्रोफेशनल का औसत मासिक वेतन 12,736 रुपये है। दिल्ली में जहां एक ड्राइवर औसतन हर माह 12,353 रुपये कमाता है, वहीं डाटा-एंट्री प्रोफेशनल की औसत मासिक कमाई 10,474 रुपये है। बेंगलुरु में एक ड्राइवर का औसत वेतन 12,879 रुपये है। 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मुंबई और दिल्ली की तुलना में रसोइये बेंगलुरु में अधिक कमाई करते हैं। बेंगलुरु में एक रसोइये की औसत कमाई 11,521 रुपये है जबकि दिल्ली और मुंबई में यह क्रमश: 11,031 और 10,957 रुपये है।