Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

परीक्षा केंद्र में गैजेट्स लाने वाले उम्मीदवार भविष्य में एग्जाम नहीं दे सकेंगे: यूपीएससी

दिशानिर्देशों के उल्लंघन पर उम्मीदवारों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी जिसमें भविष्य की परीक्षाओं, चयन से वंचित किया जाएगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
परीक्षा केंद्र में गैजेट्स लाने वाले उम्मीदवार भविष्य में एग्जाम नहीं दे सकेंगे: यूपीएससी

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी)

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने कहा है कि परीक्षा केंद्र के भीतर मोबाइल फोन या ब्लूटूथ जैसे गैजेट्स लाने वाले उम्मीदवारों को भविष्य की परीक्षाओं की वंचित कर दिया जाएगा. सिविल सेवा परीक्षार्थियों के लिए जो दिशानिर्देश तय किए गए हैं उसमें यूपीएससी ने उम्मीदवारों से कहा है कि वे परीक्षा कक्ष के भीतर कोई कीमती सामान नहीं लाएं.

यूपीएससी ने कहा, ‘‘मोबाइल फोन जैसा कोई इलेक्ट्रॉनिक गैजेट, कम्युनिकेशन के किसी दूसरे डिवाइस, लैपटॉप, ब्लूटूथ डिवाइस और कैलकुलेटर के परीक्षा कक्ष के भीतर ले जाने पर रोक होगी.’’ उन्होंने कहा, ‘‘इन दिशानिर्देशों के उल्लंघन पर उम्मीदवारों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी जिसमें भविष्य की परीक्षाओं, चयन से वंचित किया जाएगा.’’ सिविल सेवा की प्राथमिक परीक्षा आगामी 18 जून को होगी. हर साल करीब 4.59 लाख लोग इस परीक्षा में बैठते हैं.

टिप्पणियां

भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस), भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) और भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) सहित अन्य शीर्ष सेवाओं के अधिकारियों के चयन के लिए यूपीएससी हर साल तीन चरणों - प्रारंभिक, मुख्य एवं साक्षात्कार - वाली सिविल सेवा परीक्षा आयोजित करती है. देश भर के विभिन्न केंद्रों पर हर साल लाखों परीक्षार्थी सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा में शामिल होते हैं. (इनपुट एजेंसी से)


 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... IND vs AUS: अजीबोगरीब तरह से आउट हुईं हरमनप्रीत कौर, देखकर कीपर ने पकड़ लिया सिर, देखें Video

Advertisement