NDTV Khabar

Career in Translation: ट्रांसलेटर बनकर आप अपने करियर को दे सकते हैं नई उड़ान

विभिन्न देश के दूतावास अपने पास ऐसे ही ट्रांसलेटर को नौकरी पर रख रहे हैं

55 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
Career in Translation: ट्रांसलेटर बनकर आप अपने करियर को दे सकते हैं नई उड़ान

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. देश में भी कई भाषाओं में ट्रांसलेटर की है जरूरत
  2. नौकरी के बेहतर विकल्प हैं मौजूद
  3. घर में रहकर भी कर सकते हैं मोटी कमाई
नई दिल्ली : वैश्विकरण के इस दौर में जब आपके पास विभिन्न देश में जाकर नौकरी करने का विकल्प है, ऐसे में किसी दूसरे की भाषा सीखना आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता. आप अपने देश के अलावा किसी अन्य देश की भाषा को सीखने के साथ एक बेहतर ट्रांसलेटर बन सकते हैं. इस क्षेत्र में नौकरी के कई बेहतर विकल्प मौजूद हैं. आप किन्ही दो देश की भाषा सीखने के बाद एक बेहतर ट्रांसलेटर के तौर पर नौकरी कर सकते हैं.भाषा का अनुवाद ही एक ऐसा विकल्प है जो आपको दूसरे देश के लोगों के करीब लाता है. बगैर वहां की भाषा को समझे आप उनकी संस्कृति और वहां की खास चीजों के बारे में नहीं जान सकते.

यह भी पढ़ें: Part Time Job करते हुए इन पांच बातों का रखें ख्याल, रातों-रात बदल सकता है करियर  

आज विभिन्न देश के दूतावास अपने पास ऐसे ही ट्रांसलेटर को नौकरी पर रख रहे हैं जो दूसरे देश की भाषा को जानते समझते हों और उसका अनुवाद कर सकते हों. ट्रांसलेटर क्षेत्र में बेहतर नौकरी के साथ-साथ सैलरी पैकेज भी काफी बेहतर मौजूद हैं. इस रचनात्मक क्षेत्र में करियर बनाने की इच्छा रखने वाले युवाओं के लिए ट्रांसलेटर बनना एक बेहतर करियर विकल्प साबित हो सकता है. इस क्षेत्र से जुड़ी संभावनाओं के बारे में पढ़ें.

यह भी पढ़ें: यह हैं पांच Short Term Skill Course जो दे सकते हैं आपके करियर को नई ऊंचाइयां

घर बैठकर करें काम
आप अगर ट्रांसलेशन क्षेत्र में करियर बनाने का मन बना चुके हैं तो आपके पास फुल और पार्ट टाइम नौकरी करने का विकल्प होगा. जो इच्छुक लोग इस क्षेत्र में घर बैठे काम करना चाहते हैं उनके लिए फ्रीलांस अनुवाद एक बेहतर विकल्प है. इसमें आप दिन में कुछ घंटे ही निकालने के साथ अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं.

पर्यटन के क्षेत्र में मौके
आप दूसरे देश की भाषा सीखने के साथ ही इंटरप्रेटर का काम भी कर सकते हैं. यह अनुवाद का ही एक रूप है. इसमें अनुवाद की तरह लिखित कार्य न करके मौखिक रूप से काम करते हैं. इंटप्रेटर का सबसे ज्यादा काम पर्यटन के क्षेत्र में आता है. आप दूसरे देश से आए पर्यटकों से रूबरू होकर उन्हें उनकी भाषा में ही अपने देश से जुड़ी अहम चीजों के बारे में बताते हैं. 

यह भी पढ़ें: 12वीं पास छात्रों को प्लांट पैथोलॉजी दे रहा है बेहतर करियर विकल्प

भाषा पर पकड़ है जरूरी
एक बेहतर ट्रांसलेटर बनने के लिए आपकी भाषा पर पकड़ होना जरूरी है. उदाहरण के तौर पर अगर आपको चीनी  भाषा को हिन्दी में अनुवाद करना है तो आपकी चीनी और हिन्दी दोनों भाषा पर पकड़ होनी चाहिए. संस्कृति को बिना जाने-समझे अनुवाद करने से लेखन नीरस साबित होता है जिसके कारण पाठक आकर्षित नहीं हो पाते.

जानकारी होनी आवश्यक 
एक अच्छे ट्रांसलेटर को इस बात का हमेशा ध्यान रखना चाहिए कि  अनुवाद मूल लेखन से भी कठिन होता है. इसके लिए सबसे पहले आपको अपनी मातृभाषा के अलावा दूसरी भाषा की जानकारी होना जरूरी है. 

धैर्य भी जरूरी
यह काफी नहीं है कि आप महज फर्राटे से इंग्लिश, स्पैनिश व अन्य विदेशी भाषा बोलना जानते हों. अनुवादक का मकसद एक भाषा से दूसरे भाषा क्षेत्र में जाना होता है. इसके लिए आपके पास उस भाषा की अच्छी जानकारी होना भी जरूरी है. आप बेहतर तरह से अनुवाद कर सकें इसके लिए आपके अंदर धैर्य और स्थिरता का होना भी जरूरी है. आपको अनुवाद करते समय शब्दों के विकल्पों में से सटीक शब्दों का चयन करना होता है.

यह भी पढ़ें: फूड टेक्नोलॉजी क्षेत्र युवाओं को दे रहा है करियर बनाने का शानदार विकल्प

सभी भाषाओं में मौजूद हैं मौके
अनुवाद को लेकर एक समान्य धारना यह है कि उसका काम सिर्फ हिंदी से अंग्रेजी में अनुवाद करना होता है. जबकि ऐसा नहीं है. आज के दौर में विश्व की तमाम भाषाओं में अनुवादक की जरूरत है. अगर हम अपने देश में भी देखें तो देश के अंदर अलग-अलग भाषाओं जैसे कि गुजराती, मराठी, तमिल में भी अनुवाद की पूरी संभावना होती है. ऐसे में आप देश के अंदर  भी अलग-अलग भाषाएं सीखकर बेहतर अनुवादक बन सकते हैं.

वेतनमान 
नौकरी के शुरुआती दिनों में एक अनुवादक को 15 से 20 हजार तक सैलरी मिलती है. बाद में आपके अनुभव के हिसाब से इसमें बढ़ोतरी होती है. साथ ही आप अपना काम भी कर सकते हैं.

VIDEO: शिक्षकों ने किया विश्वविद्यालय प्रशान के खिलाफ प्रदर्शन


प्रमुख संस्थान
- देवी अहिल्या विश्वविद्यालय, इंदौर
- सरदार पटेल युनिवर्सिटी, गुजरात 
- इंदिरा गांधी ओपन युनिवर्सिटी, दिल्ली
- दिल्ली युनिवर्सिटी, दिल्ली
- जवाहर लाल नेहरू युनिवर्सिटी, दिल्ली
- सेंट्रल इंस्टिट्यूट ऑफ इंग्लिश एंड फॉरेन लैंग्वेज, हैदराबाद
- मुंबई युनिवर्सिटी, मुंबई
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement