CBSE Board Exams: सीबीएसई का ऐलान, 10वीं और 12वीं के इन छात्रों को इस बार एग्जाम न देने की छूट

CBSE Board Exams 2020: सीबीएसई ने कहा है कि विशेष आवश्यकताओं वाले बच्चे जिन्हें परीक्षा के लिए किसी लेखक की जरूर है वे 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में शामिल न होने का विकल्प चुन सकते हैं.

CBSE Board Exams: सीबीएसई का ऐलान, 10वीं और 12वीं के इन छात्रों को इस बार एग्जाम न देने की छूट

CBSE Board Exams 2020: सीबीएसई की परीक्षाएं 1 जुलाई से 15 जुलाई तक होंगी.

नई दिल्ली:

CBSE 10th, 12th Board Exams: सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) 10वीं और 12वीं की पेंडिंग परीक्षाओं का शेड्यूल जारी कर चुका है. 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं अब 1 जुलाई से 15 जुलाई के बीच आयोजित की जाएंगी. लेकिन कोरोनावायरस (Coronavirus) से देश में बिगड़ रहे हालातों के बीच बोर्ड के लिए परीक्षाएं (CBSE Board Exams 2020) आयोजित कराना एक बड़ी चुनौती है. गंभीर स्थिति को देखते हुए सीबीएसई बोर्ड (CBSE Board) ने अहम घोषणा की है. सीबीएसई ने कहा है कि विशेष आवश्यकताओं वाले बच्चे जिन्हें परीक्षा के लिए किसी लेखक की जरूरत है वे 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में शामिल न होने का विकल्प चुन सकते हैं. दरअसल, बोर्ड का कहना है कि ऐसी स्थिति में सोशल डिस्टेंसिंग के निमयों का पालन करना मुश्किल होगा. 

सीबीएसई ने ये भी कहा है कि  विशेष आवश्यकताओं वाले स्टूडेंट्स, जो परीक्षा में शामिल न होने का विकल्प चुनते हैं उनका रिजल्ट अल्टरनेटिव मोड यानी इंटरनल असेसमेंट के आधार पर जारी किया जाएगा. 

सीबीएसई बोर्ड के सीनियर अधिकारी ने कहा, "विशेष आवश्यकता वाले बच्चे, जो सोशल डिस्टेंसिंग के चलते परीक्षाओं में शामिल नहीं होना चाहते हैं तो वह अपने स्कूलों को इस बारे में सूचित कर सकते हैं. ऐसे स्टूडेंट्स का रिजल्ट बोर्ड द्वारा निर्धारित असेसमेंट के नियमों के आधार पर जारी किया जाएगा."

बता दें कि दिव्यांगों के अधिकारों से जुड़े 2016 अधिनियम के तहत बोर्ड ऐसे छात्रों को परीक्षा के दौरान कई रियायतें देता है.  अधिकारी ने आगे कहा, "अतिरिक्त समय, सहायक या पाठक, कम्प्यूटर या लैपटॉप (बिना इंटरनेट) लाने के अलावा इस साल से हमने सीडब्ल्यूएसएन वर्ग के तहत पंजीकृत छात्रों को कैलकुलेटर लाने की अनुमति दी है."

दृष्टिबाधित, डिस्लेक्सिक्स, मस्कुलर डिस्ट्रॉफी, स्पैस्टिक्स, लोकोमोटर अन्य सहित ‘चिल्ड्रन विद स्पेशल नीड्स' (सीडब्ल्यूएसएन) श्रेणी के तहत इस साल 10वीं के 6,844 और 12वीं में 3,718 छात्र हैं. बता दें कि देश में 12वीं की परीक्षाएं पूरे देश में होंगी लेकिन 10वीं की परीक्षाएं केवल उत्तर पूर्व दिल्ली में होनी हैं, जो दंगों की वजह से नहीं हो पाई थीं.   



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com