CBSE Pending Exam: 12वीं बोर्ड के बचे हुए पेपर रद्द होंगे या नहीं? CBSE ने SC में कहा- 25 जून तक अंतिम फैसला

केंद्र और CBSE ने सुप्रीम कोर्ट से कहा- बची हुई परीक्षाओं पर कोई भी फैसला गुरुवार तक

CBSE Pending Exam: 12वीं बोर्ड के बचे हुए पेपर रद्द होंगे या नहीं? CBSE ने SC में कहा- 25 जून तक अंतिम फैसला

नई दिल्ली:

CBSE Pending Exam 2020: सीबीएसई 12वीं बोर्ड के बचे हुए पेपर होंगे या नहीं, इस पर आज मानव संसाधन मंत्रालय और CBSE बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट में अपना पक्ष रखा है. सीबीएसई और मंत्रालय ने कोर्ट को बताया है कि पेपर रद्द करने पर चर्चा एडवांस स्टेज में है और गुरुवार तक इस पर अंतिम फैसला कर लिया जाएगा. इस दलील के बाद सुप्रीम कोर्ट ने मामले की सुनवाई गुरुवार तक टाल दी है. अब इस मामले की सुनवाई गुरुवार 25 जून को दोपहर 2 बजे होगी.

सॉलिसिटर जनरल ने सुप्रीम कोर्ट को सूचित किया कि केंद्र सरकार संभवत गुरुवार तक 12वीं कक्षा की बची हुई परीक्षाएं आयोजित करने पर अपना निर्णय सुनाएगी. केंद्र और CBSE ने आज कहा, "निर्णय लेने की प्रक्रिया एडवांस स्टेज में है. इसे गुरुवार तक इसपर अंतिम फैसला लिया जाएगा."

क्या है पूरा मामला?
दरअसल, कोरोनावायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए कुछ छात्रों के अभिभावकों ने सुप्रीम कोर्ट से मांग की है कि सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (CBSE) के 12वीं क्लास के बचे हुए पेपर न कराए जाएं. अभिभावकों का मानना है कि एग्जाम देने से बच्चों के लिए खतरा पैदा हो सकता है. पैरेंट्स की तरफ से दायर याचिका में मांग की गई है कि 12वीं के बचे हुए बोर्ड एग्जाम कराने का जो फैसला सीबीएसई ने लिया है उसे रद्द किया जाए. 

अभिभावकों की याचिका के बाद सुप्रीम कोर्ट ने सीबीएसई बोर्ड (CBSE Board) से जवाब मांगा था. कोर्ट ने इस मामले पर बोर्ड से कहा था कि वे हालात को देखते हुए अपना जवाब दे. सीबीएसई ने भी कहा था कि वह स्थिति को देखते हुए अपने दिशा-निर्देश बताएगा. आज सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई हुई है. परीक्षाओं के बारे में अंतिम निर्णय गुरुवार को लिया जाएगा. 

वहीं,  NDTV को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, जुलाई में होने वाले बचे हुए बोर्ड एग्जाम टल सकते हैं. बोर्ड परीक्षाओं के अलावा जुलाई में होने वाले देश के सबसे अहम एंट्रेंस एग्जाम जेईई (JEE 2020 Exam) और नीट एग्जाम (NEET Exam) को भी टाला जा सकता है. शिक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने कहा, "छात्रों की सुरक्षा सबसे अहम है. इन परीक्षाओं को आयोजित करने के लिए स्थिति अनुकूल नहीं है." सूत्रों ने ये भी बताया कि कुछ परीक्षाओं को रद्द किया जा सकता है और जेईई मेन (JEE Mian 2020 Exam) और नीट  (NEET Exam 2020) जैसे एंट्रेंस एग्जाम को स्थगित भी किया जा सकता है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बता दें कि कोरोनावायरस के चलते मार्च के महीने से सभी शैक्षणिक संस्थान बंद हैं. स्कूल और कॉलेज बंद होने की वजह से बोर्ड की परीक्षाएं आयोजित करना एक बड़ा मुद्दा बन गया है. कोरोनावायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए सीबीएसई बोर्ड समेत कई बोर्ड ने 10वीं और 12वीं की बची हुई परीक्षाएं स्थगित कर दी थीं. मौजदा स्थिति में परीक्षाएं आयोजित करना काफी मुश्किल हो रहा है.