CBSE Board Exam 2020: क्या सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं कैंसिल हो गई हैं? जानिए सच्चाई

हाल ही में 12वीं और 10वीं बोर्ड के पेंडिंग एग्जाम के कैंसिल होने के बारे में कुछ खबरें वायरल हुईं. इस बारे में सीबीएसई बोर्ड ने कहा कि वे अप्रैल को जारी किए गए नोटिस पर ही अभी भी कायम है. 

CBSE Board Exam 2020: क्या सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं कैंसिल हो गई हैं? जानिए सच्चाई

CBSE बोर्ड परीक्षाओं का नया शेड्यूल अभी जारी नहीं किया गया है.

नई दिल्ली:

CBSE Board Exam 2020: सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) ने रविवार को दोबारा बताया कि कोरोनावायरस (Coronavirus) से देश में पनपे हालातों के चलते बोर्ड के लिए 12वीं और 10वीं के उत्तर पूर्वी दिल्ली के दंगों से प्रभावित स्टूडेंट्स के लिए एग्जाम का नया शेड्यूल जारी करना मुमकिन नहीं है. बता दें कि हाल ही में 12वीं और 10वीं बोर्ड के पेंडिंग एग्जाम के कैंसिल होने के बारे में कुछ खबरें वायरल हुईं. इस बारे में सीबीएसई बोर्ड ने कहा कि वे 1 अप्रैल को जारी किए गए नोटिस पर ही अभी भी कायम है. 

CBSE बोर्ड  ने 1 अप्रैल के नोटिस में क्या कहा था?
CBSE बोर्ड  ने 1 अप्रैल को नोटिस जारी करके बताया था, "12वीं और 10वीं क्लास के दोबारा से बोर्ड एग्जाम शेड्यूल करने के बारे में ये सूचित किया जाता है कि मौजूदा हालातों में बोर्ड के लिए एग्जाम का नया शेड्यूल जारी करना मुश्किल है."

CBSE के नोटिस के मुताबिक, "बोर्ड ये सूचित करता है कि परीक्षाओं को दोबारा आयोजित करने का फैसला उच्च शिक्षा अधिकारियों के साथ सलाह करके एंट्रेंस एग्जाम, एडमिशन डेट्स समेट सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर किया जाएगा. इस संदर्भ में यह सूचित किया जाता है कि परीक्षा शुरू करने से पहले बोर्ड सभी उम्मीदवारों को लगभग 10 दिन पहले नोटिस जारी करके जानकारी देगा."

MHRD ने सीबीएसई को आदेश दिया है कि वे 10वीं और 12वीं के सिर्फ मेन एग्जाम के लिए दोबारा से परीक्षाएं आयोजित कराएंगे, जो स्टूडेंट्स को प्रमोट करने और उच्च शिक्षण संस्थानों में दाखिले के लिए महत्वपूर्ण होते हैं. मेन सब्जेक्ट्स के अलावा दूसरे सब्जेक्ट्स के लिए अब दोबारा एग्जाम नहीं होंगे. 

वहीं, केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक' ने रविवार को कहा कि देश में कोरोनावायरस संकट पर स्थिति की 14 अप्रैल को समीक्षा करने के बाद सरकार स्कूल,कॉलेज फिर से खोलने पर कोई निर्णय लेगी. एचआरडी मंत्री ने एक साक्षात्कार में कहा कि छात्रों और अध्यापकों की सुरक्षा सरकार के लिये सर्वोपरि है और उनका मंत्रालय यह सुनिश्चित करने के लिये तैयार है कि यदि स्कूल, कॉलेज को 14 अप्रैल के बाद भी बंद रखने की जरूरत पड़ी तो छात्रों को पढ़ाई-लिखाई का कोई नुकसान नहीं हो.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com