NDTV Khabar

CBSE Class 10 Board Exam 2018: सोशल साइंस में चाहिए अच्छे नंबर तो तैयारी के दौरान रखें इन 5 बातों का ध्यान

CBSE Class 10 Board की तैयारी के दौरान हर विषय को महत्व देना जरूरी है. कोशिश करें कि कठिन विषय को पहले पूरा किया जाए.

19 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
CBSE Class 10 Board Exam 2018: सोशल साइंस में चाहिए अच्छे नंबर तो तैयारी के दौरान रखें इन 5 बातों का ध्यान

प्रतीकात्मक चित्र

खास बातें

  1. परीक्षा के दौरान सभी प्रश्न को एक ही तरह महत्व दें
  2. तैयारी के दौरान भी समय का ध्यान रखना जरूरी
  3. अगले महीने से शुरू होने वाली है बोर्ड की परीक्षा
नई दिल्ली: CBSE Class 10 Board परीक्षा की तैयारी के मद्देनजर प्रत्येक विषय के हिसाब से पढ़ाई करना काफी फायदेमंद होता है. ऐसा करने से छात्र हर विषय की बेहतर तरीके से तैयारी कर पाते हैं और उन्हें उस परीक्षा में अच्छे नंबर भी मिलते हैं. लेकिन कई बार छात्रों को परीक्षा की तैयारी और प्रश्न को हल करने से जुड़ी कुछ अहम बातों का पता न होने से नुकसान भी उठाना पड़ता है.

यह भी पढ़ें: इन 3 आसान तरीकों से आप भी बोर्ड परीक्षा में ला सकते हैं 90 फीसदी से ज्यादा नंबर

आज हम 10वीं के सोशल साइंस विषय में बेहतर अंक लाने के ऐसे ही 5 अहम तरीकों के बारे में बताने जा रहे हैं. इस बाबत हमनें सोशल साइंस विषय की शिक्षिका मुक्ता कोहली से बात की. उन्होंने बताया कि किस तरह से छात्र कुछ अहम बातों का खयाल रखकर इस विषय में बेहतर कर सकते हैं. 

हर विषय के लिए समय तय करें 
मुक्ता कोहली के अनुसार सोशल साइंस में बेहतर करने के लिए जरूरी है कि छात्र इसके हर विषय के लिए तैयारी का समय तय करे. ऐसा करते समय उन विषय को थोड़ा ज्यादा समय देना चाहिए जो काफी लंबे और जटिल हों. उदाहरण के तौर पर हिस्ट्री का पेपर सबसे लंबा होता है लिहाजा इसे सबसे पहले करने की जरूरत है. इसके बाद आप पॉलिटिकल साइंस और फिर जियोग्राफी को रख सकते हैं. इस तरह से आप हर विषय के लिए सही समय निकाल पाएंगे. 

यह भी पढ़ें: UP Board परीक्षा को लेकर अब सीएम योगी ने दिया यह बड़ा आदेश

एनसीईआरटी की किताब को गंभीरता से लें
छात्र अगर परीक्षा में बेहतर अंक लाना चाहते हैं तो उन्हें एनसीईआरटी की किताब को गंभीरता से पढ़ना चाहिए. अकसर छात्र परीक्षा से ठीक पहले अलग-अलग किताबें पढ़ने लगते हैं लेकिन एनसीईआरटी की किताब को ज्यादा महत्तव नहीं देते. कोहली के अनुसार अगर छात्र दूसरी किताब की तुलना में सिर्फ एनसीईआरटी की किताब को ही ध्यान से पढ़े तो वह परीक्षा में बेहतर कर सकते हैं. 

मॉक टेस्ट जरूर दें
अपनी तैयारी को बेहतर करने के लिए जरूरी है कि छात्र मॉक टेस्ट जरूर दें. ऐसा करने से उन्हें अपनी तैयारी में हो रही कमियों के बारे में पता चलता है और वह समय रहते उसे सुधार सकते हैं. छात्र मॉक टेस्ट के अलावा सीबीएसई  के सेंपल पेपर को भी हल कर सकते हैं. यह भी काफी मददगार साबित होती है. 

यह भी पढ़ें: नकल रोकने के लिए कड़े इंतजाम, 5 लाख से ज्यादा छात्रों ने छोड़ दी परीक्षा

प्रश्न को समझने में न करें जल्दबाजी
मुक्ता के अनुसार परीक्षा हॉल में अकसर छात्र प्रश्न पत्र को हल करने में ज्यादा जल्दबाजी दिखाते हैं. इस वजह से कई बार वह प्रश्न को नहीं समझ पाते है और जल्दबाजी में गलत उत्तर दे देते हैं. इस वजह से तैयारी के दौरान की गई कड़ी मेहनत के बाद भी उन्हें अच्छे नंबर नहीं आते. लिहाजा छात्रों को प्रश्न का उत्तर देते समय उसे समझना जरूरी है. 

हर प्रश्न को अहमियत दें 
छात्रों को चाहिए कि वह परीक्षा के दौरान सभी प्रश्न को एक ही तरह से महत्तव दें. कई बार छात्र एक या दो नंबर के प्रश्न को 5 नंबर के प्रश्न की तुलना में ज्यादा महत्व नहीं देते. यह गलत है.

टिप्पणियां
VIDEO: यूपी बोर्ड का है बुरा हाल, खुली शिक्षा व्यवस्था की पोल.


इस वजह से छात्र अपनी गलती से ही परीक्षा में ज्यादा नंबर नहीं ला पाते. छात्रों को चाहिए कि वह हर प्रश्न को एक समान समझें.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement