CBSE Exam 2020: सीबीएसई ने 19 से 50 की एंक्रिप्टेड प्रश्नपत्रों की संख्या, उठाए ये महत्वपूर्ण कदम

CBSE ने टेक्नोलॉजी की मदद से परीक्षाओं को पारदर्शी बनाने का प्रयास किया है. बोर्ड ने इस वर्ष एंक्रिप्टेड प्रश्न पत्रों की संख्या 19 से बढ़ाकर 50 कर दी है.

CBSE Exam 2020: सीबीएसई ने 19 से 50 की एंक्रिप्टेड प्रश्नपत्रों की संख्या, उठाए ये महत्वपूर्ण कदम

CBSE Board: अब 50 प्रश्नपत्र सीधे मेल के द्वारा स्कूलों को मिलेंगे.

खास बातें

  • बोर्ड टेक्नोलॉजी की मदद से परीक्षाओं को पारदर्शी बना रहा है.
  • सीबीएसई ने 19 से 50 की एंक्रिप्टेड प्रश्नपत्रों की संख्या.
  • 50 प्रश्नपत्र सीधे मेल के द्वारा स्कूलों को भेजे जाएंगे.
नई दिल्‍ली:

CBSE Exam 2020: सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं चल रही है. बोर्ड ने परीक्षा (CBSE Exam) में नकल और पेपर लीक से बचने के लिए इस बार कई सख्त कदम उठाए हैं. CBSE ने टेक्नोलॉजी की मदद से परीक्षाओं को पारदर्शी बनाने का प्रयास किया है. बोर्ड ने इस वर्ष एंक्रिप्टेड प्रश्न पत्रों की संख्या 19 से बढ़ाकर 50 कर दी है. यानी कि अब 50 प्रश्नपत्र सीधे मेल के द्वारा स्कूलों को मिलेंगे. इसके अलावा सीबीएसई ने कई कदम उठाए जिनकी जानकारी नीचे दी गई है. 

-सीबीएसई ने विसंगतियों की पहचान करने के लिए, विभिन्न गुणवत्ता जांचों के लिए पोर्टल्स का एकीकरण किया है. विद्यालयों और क्षेत्रीय कार्यालयों के साथ तीव्र संचार प्रणाली सुनिश्चित करने के लिए दो नए पोर्टल डेवलप किए गए हैं. 

-परीक्षा 2020 के लिए कक्षा 10वीं और 12वीं से संबंधित क्यूआर कोड के साथ प्रवेश पत्रों को पुन: डिजाइन किया गया और ऑनलाइन डाउनलोडिंग के लिए उपलब्ध कराया गया.

-परीक्षा 2020 के लिए केंद्र सामग्री की इमेज के साथ कस्टोडियन और केंद्र अधीक्षक की फोटो टैगिंग को जोड़ा गया है. यह सामग्री के सुरक्षित संग्रह और वितरण के लिए किया गया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

-प्रक्टिकल परीक्षा प्रयोगशालाओं, परीक्षकों और परीक्षा छवियों इमेज की फोटो टैगिंग के साथ कक्षा 10वीं और 12वीं के लिए आंतरिक मूल्यांकन और साथ ही प्रैक्टिकल अंक के प्रस्तुतीकरण के लिए एकीकृत पोर्टल विकसित किया गया.

-अनुपस्थित विद्यार्थियों का रियल टाइम डेटा एकत्र करने के लिए पोर्टल को मजबूत किया गया है.