CBSE ने लॉन्च किया Facial Recognition System, अब बिना आधार के पा सकते हैं डॉक्यूमेंट्स

CBSE ने फेशियल रिकग्निशन सिस्टम लॉन्च किया है. जिसकी मदद से 10वीं-12वीं के छात्र बिना आधार कार्ड नंबर और मोबइल नंबर के सर्टिफिकेट डाउनलोड कर सकते हैं.

CBSE ने लॉन्च किया Facial Recognition System, अब बिना आधार के पा सकते हैं डॉक्यूमेंट्स

नई दिल्ली:

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने छात्रों को कक्षा 10वीं और 12वीं के डॉक्यूमेंट्स को डाउनलोड करने की सुविधा को आसान बनाने के लिए 'फेशियल रिकग्निशन सिस्टम' शुरू किया है. इस ऐप की मदद से 10वीं और 12वीं के छात्र बिना आधार कार्ड नंबर और मोबाइल नंबर के सर्टिफिकेट डाउनलोड कर सकेंगे.

बता दें, फेशियल रिकग्निशन सिस्टम की सुविधा विदेशी छात्रों और उन लोगों के लिए बहुत मदद करेगी जो आधार कार्ड या गलत मोबाइल नंबर जैसे किसी भी कारण से डिजीलॉकर खाता खोलने में असमर्थ हैं.

कैसे काम करेगी ये ऐप

फेशियल रिकग्निशन सिस्टम कुछ इस तरह काम करेगा कि यह डेटाबेस में स्टोर डिजिटल इमेज से छात्र के चेहरे को मैच करेगा. यह कंप्यूटर और सामने खड़े छात्र के फेशियल फीचर्स को मैच करेगा और उसके बाद ही छात्र को एक्सेस की अनुमति होगी.

यह एप्लिकेशन अब  'Parniaam Manjusha' और डिजी लॉकर https://digilocker.gov.in/cbse-certificate.html पर सभी 2020 रिकॉर्ड के लिए उपलब्ध है.

Newsbeep

बता दें, सीबीएसई  बोर्ड करीब 12 करोड़ डॉक्यूमेंट्स डिजिलॉकर पर अपलोड कर चुका है. इन्हें एक्सेस करके स्टूडेंट्स अपनी मार्कशीट्स, पासिंग सर्टिफिकेट, माइग्रेशन सर्टिफिकेट आदि पा सकते हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com