CBSE ने लिया बड़ा फैसला, 11वीं के स्टूडेंट्स के लिए शुरू किए 3 नए सब्जेक्ट

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) सत्र 2020-21 से 11वीं क्लास के लिए 3 नए सब्जेक्ट इंट्रोड्यूस कर रहा है.

CBSE ने लिया बड़ा फैसला, 11वीं के स्टूडेंट्स के लिए शुरू किए 3 नए सब्जेक्ट

11वीं के स्टूडेंट्स के लिए CBSE ने 3 नए सब्जेक्ट इंट्रोड्यूस किए हैं.

नई दिल्ली:

नई जनरेशन के स्टूडेंट्स को ज्यादा क्रिएटिव, इनोवेटिव और फिजिकली फिट बनाने के उद्देश्य से सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) सत्र 2020-21 से 11वीं क्लास के लिए 3 नए सब्जेक्ट इंट्रोड्यूस कर रहा है. ये 3 नए सब्जेक्ट्स डिजाइन थिंकिंग, शरीरिक गतिविधि प्रशिक्षक और आर्टिफिशियल इंटेंलिजेंस हैं. सीबीएसई ने कहा, "डिजाइन थिंकिंग, फिजिकल एक्टिविटी ट्रेनर और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस 2019 की नई शिक्षा नीति को ध्यान में रखकर इंट्रोड्यस किया गया है. इसमें कहा गया है कि करिक्युलर, को- करिक्युलर और एक्स्ट्रा करिक्युलर या एकेडमिक और वोकेशनल और फिजिकल एक्टिविटी के बीच अलगाव नहीं होना चाहिए."

सीबीएसई के प्रशिक्षण एवं कौशल शिक्षा प्रकोष्ठ के निदेशक विश्वजीत साहा ने मंगलवार को बताया कि नयी पीढ़ी को और अधिक रचनात्मक, नवोन्मेषी और शरीरिक रूप से फिट बनाने तथा वैश्विक घटनाक्रमों और कार्यस्थल की जरूरतों के साथ तालमेल रखने के लिये बोर्ड तीन नए विषयों की शुरुआत कर रहा है.

उन्होंने कहा, ‘‘सोचना एक कौशल है, जो प्रत्येक मनुष्य के पास होता है, ऐसे में 21वीं सदी की जरूरत तार्किक सोच और समस्या समाधान से जुड़ी हुई है. डिजाइन थिंकिंग सोच की एक व्यवस्थित प्रक्रिया है जो रचनात्मकता के क्षितिज को खोलती है और यहां तक कि विचारकों को समस्याओं को नया और अभिनव समाधान देने में सक्षम बनाती है.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

साहा ने कहा कि शारीरिक गतिविधि प्रशिक्षक से जुड़ा कोर्स न केवल प्रशिक्षकों के कौशल को बेहतर बनायेगा बल्कि जीवन कौशल को भी बेहतर बनायेगा. उन्होंने कहा कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का भी आज के समय में महत्वपूर्ण स्थान है.      

बता दें कि इन नए प्रोग्राम के अलावा सीबीएसई बोर्ड पहले से ही सेकेंडरी लेवल पर 17 स्किल सब्जेक्ट और सीनियर सेकेंडरी लेवल पर 37 स्किल सब्जेक्ट ऑफर कर रहा है. इन सब्जेक्ट्स को ऑफर करने का मकसद नई जनरेशन के स्टूडेंट्स में स्किल और कुशलता को बेहतर करना है और नए करियर ऑप्शन के बारे में जागरूक करना है. बोर्ड ने स्कूलों से अनुरोध किया है कि वे कक्षा 9वीं और 11वीं के छात्रों के लिए किसी एक या एक से अधिक स्किल कोर्स चुनें और सत्र 2020-21 से स्टूडेंट्स को ऑफर करना शुरू कर दें. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)