NDTV Khabar

CBSE NEET 2017: प्रश्न पत्र का विश्लेषण और परीक्षार्थियों की प्रतिक्रियाएं

सीबीएसई ने देश भर के करीब 104 शहरों में रविवार को नीट अंडरग्रेजुएट परीक्षा आयोजित की. इसमें सफल होने वाले अभ्यर्थी मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया/डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया से मान्यता प्राप्त मेडिकल/डेंटल कॉलेजों में एमबीबीएस/बीडीएस कोर्सेज में दाखिला ले पाएंगे. इसके अलावा आयुष संबंध कोर्सेज में भी इसी के जरिए दाखिला मिलेगा. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
CBSE NEET 2017: प्रश्न पत्र का विश्लेषण और परीक्षार्थियों की प्रतिक्रियाएं

CBSE NEET 2017: कैसा था प्रश्न पत्र

सीबीएसई ने देश भर के करीब 104 शहरों में रविवार को नीट अंडरग्रेजुएट परीक्षा आयोजित की. इसमें सफल होने वाले अभ्यर्थी मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया/डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया से मान्यता प्राप्त मेडिकल/डेंटल कॉलेजों में एमबीबीएस/बीडीएस कोर्सेज में दाखिला ले पाएंगे. इसके अलावा आयुष संबंध कोर्सेज में भी इसी के जरिए दाखिला मिलेगा. 

परीक्षा रविवार को सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे के बीच आयोजित हुई. प्रश्न पत्र को लेकर कई परीक्षार्थियों ने एनडीटीवी से बातचीत की. ज्यादातर ने बताया कि प्रश्न पत्र कुल मिलाकर ठीक-ठीक था. हालांकि कुछ परीक्षार्थियों ने इस बात की शिकायत की कि फिजिक्स से संबंधित प्रश्न मुश्किल थे. 

पहली बार परीक्षा दे रही केरल की फातिमा नसरीन ने बताया, बायोलॉजी और केमिस्ट्री के प्रश्न आसान थे, काफी सवाल बिल्कुल डायरेक्ट थे. ऐसा कोई सवाल नहीं था जो सिलेबस से बाहर का हो. ऐसे बहुत से प्रश्न थे जिनकी पहले से ही उम्मीद की जा रही थी. तैयारी के लिए क्रैश कोर्स करने वाली फातिमा के मुताबिक एग्जाम ज्यादा कठिन नहीं था. 

एक अन्य छात्र अहमद जमाल ने बताया, एक औसत छात्र के लिए नीट प्रश्न पत्र अच्छा था. औसत से ऊपर के छात्र इस पेपर में अच्छा स्कोर करेंगे. 

अहमद ने कहा, ''फिजिक्स के प्रश्न कठिन थे. फिजिक्स की तुलना में बायोलॉजी और केमिस्ट्री के प्रश्न थोड़े आसान थे.''

नीट 2016 के 8,02,594 पंजीकृत उम्मीदवारों की अपेक्षा इस बार यानी 2017 में 41.42% ज्यादा उम्मीदवारों ने रजिस्ट्रेशन कराया था. नीट 2017 के लिए 11,35,104 उम्मीदवारों ने रजिस्ट्रेशन कराया. 11 लाख उम्मीदवारों की परीक्षा के लिए विश्वसनीयता, इंफ्रास्ट्रक्चर आदि के आधार पर देश भर में 2200 संस्थानों को परीक्षा केंद्र बनाया गया. अब परीक्षा खत्म होने के बाद छात्रों को इसकी आंसर-की का इंतजार है. 

देश भर के मेडिकल, डेंटल, आयुष और वेटरिनेरी कॉलेजों में एडमिशन के लिए नीट परीक्षा का आयोजन किया जाता है. 

नीट में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी से जुड़े कुल 180 ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्न पूछे गए. टेस्ट शुरू होने से 15 मिनट पहले सभी परीक्षार्थियों को सील लगी टेस्ट बुकलेट वितरित की गई. सील लगी टेस्ट बुकलेट के भीतर आंसर शीट्स थी. 

टिप्पणियां
अब सीबीएसई जल्द ही नीट 2017 की आंसर-की जारी करेगी. छात्रों को भी इसका बेसब्री से इंतजार है. इससे वह अपने प्रदर्शन का सही-सही आकलन कर पाएंगे. किसी प्रश्न के उत्तर को लेकर चुनौती देने का भी मौका उन्हें दिया जाएगा. सीबीएसई ने आंसर-की जारी करने की कोई तिथि निर्धारित नहीं की है. छात्र इसके लिए लगातार सीबीएसई की आधिकारिक वेबसाइट चेक करते रहें.  छात्रों को सवाल पर आपत्‍ति दर्ज कराने के लिए प्रति सवाल 1000 रुपये की फीस जमा करानी होगी. शुल्‍क का भुगतान ऑनलाइन किया जा सकता है. हालांकि अगर छात्रों की आपत्‍ति अगर सही पाई गई तो उनके पैसे उन्‍हें वापस कर दिए जाएंगे.

सीबीएसई ने कहा था कि इस साल पंजीकृत अभ्यर्थियों की संख्या को देखते हुए केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने परीक्षा आयोजन वाले पहले वाले शहरों में 23 नए शहरों को जोड़ने का निर्णय लिया. नए शहरों में से चार-चार कर्नाटक व महराष्ट्र से, तीन-तीन गुजरात व तमिलनाडु से, दो-दो आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल तथा केरल से और एक-एक पंजाब, राजस्थान तथा उत्तर प्रदेश से हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement