NDTV Khabar

10वीं क्‍लास को लेकर CBSE ने खारिज की आप सरकार की ये मांग

केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अधिकारियों ने कहा है कि सेमेस्‍टर आधारित मूल्यांकन को बोर्ड परीक्षा नहीं कहा जा सकता क्‍योंकि यह एक वार्षिक पाठ्यक्रम के आधार पर होनी चाहिए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
10वीं क्‍लास को लेकर CBSE ने खारिज की आप सरकार की ये मांग
दिल्‍ली में आम आदमी पार्टी की सरकार की मांग को खारिज करते हुए केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने फैसला किया है कि दिल्ली सरकार के अंतर्गत आने वाले विद्यालयों के छात्रों को पूर्ण पाठ्यक्रम के आधार पर अनिवार्य रूप से 10वीं कक्षा की बोर्ड की परीक्षाएं देनी होंगी.

इससे पहले आप सरकार ने मांग की थी कि छात्रों को सेमेस्टर परीक्षा प्रारूप में आधे पाठ्यक्रमों के आधार पर आंका जाए. हालांकि, सीबीएसई बोर्ड ने दिल्ली सरकार को लिखे अपने पत्र में कहा है कि वह अपने मानदंड केवल एक राज्य के लिए नहीं बदला सकता.

ऑप्‍शनल टेस्‍ट और ऑटोमैटिक प्रमोशन सिस्‍टम की व्यापक आलोचना के बाद, सीबीएसई ने यह स्पष्ट कर दिया था कि 2017- 2018 के शैक्षणिक सत्र के लिए 10वीं कक्षा में बोर्ड की परीक्षा अनिवार्य होगी.

हालांकि बोर्ड के अधिकारियों ने कहा है कि सेमेस्‍टर आधारित मूल्यांकन को बोर्ड परीक्षा नहीं कहा जा सकता क्‍योंकि यह एक वार्षिक पाठ्यक्रम के आधार पर होनी चाहिए.

 
 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement