10th-12th Board Exams: दिल्ली सरकार ने प्रैक्टिकल, प्री- बोर्ड परीक्षा के लिए जारी किए नियम, यहां पढ़ें

दिल्ली सरकार ने इंटरनल असेसमेंट, प्रैक्टिकल परीक्षा, प्री-बोर्ड, और प्रोजेक्ट वर्क कराने के लिए कुछ नियम और दिशानिर्देश जारी किए हैं.

10th-12th Board Exams: दिल्ली सरकार ने  प्रैक्टिकल, प्री- बोर्ड परीक्षा के लिए जारी किए नियम, यहां पढ़ें

नई दिल्ली:

दिल्ली सरकार ने राज्य के स्कूलों की कक्षा 10वीं और 12वीं के लिए  प्रैक्टिकल परीक्षाओं, इंटरनल असाइमेंट और प्रोजेक्ट वर्क के लिए नियम जारी किए हैं.

नियम में बताया गया है, कोई भी ऐसा छात्र, जिसमें कोरोनावायरस के लक्षण पाए जाते हैं उन्हें स्कूल परिसर में प्रवेश करने या परीक्षा के लिए उपस्थित होने की अनुमति नहीं दी जाएगी.

अन्य राज्यों के अनुरूप, दिल्ली ने राज्य के स्कूलों को कक्षा 10वीं और 12वीं के लिए 18 जनवरी से फिर से खोलने की अनुमति दी है ताकि उन्हें आने वाली CBSE बोर्ड परीक्षा 2021 की तैयारी करने में मदद मिल सके.

हालांकि बोर्ड परीक्षा के उम्मीदवारों को केवल फिजिकल कक्षाओं में भाग लेने की अनुमति होगी, जिसके लिए उन्हें अपने माता-पिता या अभिभावकों से अनुमति लेनी होगी.  बता दें,  प्री-बोर्ड को 10 अप्रैल से 15 अप्रैल तक और कक्षा 12वीं के लिए 20 मार्च से 15 अप्रैल, 2021 तक अस्थायी रूप से आयोजित किया जाएगा.

कक्षा 10वीं और 12वीं के लिए फिजिकल सत्र आयोजित करने का मुख्य उद्देश्य आगामी 1 मार्च से स्कूल-स्तर पर आयोजित होने वाली CBSE बोर्ड की  प्रैक्टिकल परीक्षाओं की तैयारी में उनकी मदद करना है. इससे पहले केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ने घोषणा की थी कि 1 मार्च से प्रैक्टिकल परीक्षा शुरू की जाएगी. बता दें, बोर्ड परीक्षा और प्रैक्टिकल परीक्षा का शेड्यूल आना अभी बाकी है.

दिल्ली सरकार ने इंटरनल असेसमेंट, प्रैक्टिकल परीक्षा, प्री-बोर्ड, और प्रोजेक्ट वर्क कराने के लिए कुछ नियम और दिशानिर्देश जारी किए हैं.

- 12-15 से अधिक छात्रों को एक ही समय में प्रयोगशालाओं के अंदर रहने की अनुमति नहीं दी जाएगी. वहीं स्कूल के प्रमुख प्रयोगशालाओं के अंदर  सोशल डिस्टेंसिंग और सभी छात्रों को प्रैक्टिस करने के लिए समान समय सुनिश्चित करने के लिए प्रैक्टिकल कक्षाएं आयोजित करने के लिए समय-सारणी की योजना बनाई जारी रही है. इस समय सारिणी को दिल्ली सरकार के शिक्षा निदेशालय द्वारा अनुमोदित किया जाएगा.

- सभी प्रयोगशालाओं के प्रवेश पर हैंड सेनिटाइजर को रखना अनिवार्य होगा.

- दिल्ली के स्कूलों को CBSE बोर्ड परीक्षा 2021 की शुरुआत से पहले इंटरनल असेसमेंट अंकों को संकलित करना चाहिए.

- कक्षा 10वीं के छात्रों के लिए छात्रों को शीतकालीन अवकाश के होमवर्क के रूप में दिए गए प्रोजेक्ट और असाइनमेंट को आंतरिक मूल्यांकन में 05 अंकों में से चिह्नित किया जाएगा, वर्कशीट को एक पोर्टफोलियो के रूप में माना जाएगा और पांच अंकों के लिए चिह्नित किया जाएगा.

- केवल वे स्कूल जो कंटेनमेंट क्षेत्र से बाहर हैं, उन्हें CBSE प्रैक्टिकल परीक्षा 2021 के लिए फिर से खोलने की अनुमति दी जाएगी. उन्हें शिक्षा सरकार के निदेशालय को COVID-19 तैयारियों की एक योजना प्रस्तुत करनी होगी और इसे फिर से खोलने की अनुमति लेनी होगी.

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com